औरैया पहुंचा बीएसफ जवान का पार्थिव शरीर:श्रद्धांजलि देने उमड़ी भीड़, पति की फोटो सीने से लगाए रोती रही पत्नी, राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार

औरैया25 दिन पहले
औरैया में राजस्थान के बाड़मेर में शुक्रवार रात एक सड़क हादसे में जान गंवाने वाले बीएसएफ जवान का पार्थिव शरीर गांव भर्रापुर पहुंचा।

औरैया में राजस्थान के बाड़मेर में शुक्रवार रात एक सड़क हादसे में जान गंवाने वाले बीएसएफ जवान का पार्थिव शरीर गांव भर्रापुर पहुंचा। यहां उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिये हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी। धीरज कुमार अमर रहें और भारत माता की जय के नारों से पूरा इलाका गूंज उठा। इटावा लोकसभा सांसद, राज्यसभा सदस्य, विधायक, डीएम-एसपी ने जवान को श्रद्धांजलि दी।

फफूंद क्षेत्र के गांव भर्रापुर निवासी महेश कठेरिया के पुत्र धीरज कुमार बीएसएफ 83 यूनिट में कांस्टेबल के पद पर थे। इस समय उनकी तैनाती राजस्थान के बाड़मेर में भारत पाकिस्तान बॉर्डर पर थी। शुक्रवार रात अन्य जवानों के साथ मुख्यालय बाड़मेर जाते समय बीएसएफ वाहन में एक ट्राले ने टक्कर मार दी थी, जिसमें वह शहीद हो गए। रविवार सुबह विशेष विमान से उनका पार्थिव शरीर अमौसी एयरपोर्ट आया, जहां से यूनिट के जवान पार्थिव शरीर लेकर गांव भर्रापुर पहुंचे। जवान को श्रद्धांजलि देने के लिए फफूंद से भर्रापुर तक सड़क के दोनों ओर भीड़ उमड़ पड़ी।

शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।
शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

गांव पहुंचने के बाद साथ में आई बीएसएफ जवानों की टुकड़ी ने उन्हें सलामी दी। इटावा सांसद रामशंकर कठेरिया, राज्यसभा सदस्य गीता शाक्य, सदर विधायक गुड़िया कठेरिया, जिला पंचायत अध्यक्ष कमल दोहरे, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री राम मिश्रा, अंकित रंजन त्रिपाठी, लला त्रिपाठी, डीएम प्रकाश चंद्र श्रीवास्तव, एसपी चारू निगम ने श्रद्धांजलि दी। इसके बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहीद जवान की मां आशा देवी, पत्नी निशा का रो-रोकर बुरा हाल था। पत्नी शहीद पति का फोटो अपने सीने से लगाए थी।

पति की फोटो सीने से लगाकर रोती शहीद की पत्नी।
पति की फोटो सीने से लगाकर रोती शहीद की पत्नी।