पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • 2 Students Of ND Agricultural University Died Of Dengue, The University Administration Is Sending The Students To The Place Of Treatment After Falling Illण्Ayodhya.Nd University. Dengue. Up Government

अयोध्या में डेंगू का कहर, BSc छात्र की मौत:ND कृषि यूनिवर्सिटी के छात्र की एक हफ्ते पहले बिगड़ी थी तबीयत, भेजा गया था घर; साथी की मौत से सहमे छात्र

अयोध्या9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एनडी विवि परिसर का सूना पड़ा चिकित्सालय। - Dainik Bhaskar
एनडी विवि परिसर का सूना पड़ा चिकित्सालय।

कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर के बीच डेंगू ने उत्तर प्रदेश में पैर पसार दिए हैं। लगातार मौतों का सिलसिला जारी है। बीती 8 सितंबर को अयोध्या के आचार्य नरेंद्र देव एग्रीकल्चर एवं टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी के एक छात्र की डेंगू ने जान ले ली। घटना के बाद से यूनिवर्सिटी प्रशासन व छात्र-छात्राएं सहम गए हैं। उधर, यूनिवर्सिटी के विभिन्न छात्रावास में बुखार की गंभीर समस्या से जूझ रहे छात्रों से पूरी तरह से बेखबर है।

BSc सेकंड ईयर के छात्र को डेंगू होने के बाद भेजा था घर, हो गई मौत
मामला कुमारगंज स्थित आचार्य नरेंद्र देव एग्रीकल्चर और टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी का है। यहां के अनोमा छात्रावास में रह रहे बीएससी हॉर्टिकल्चर सेकंड ईयर के छात्र संदीप कुमार यादव की तबीयत एक हफ्ते पहले अचानक खराब हो गई थी। जिसके बाद यूनिवर्सिटी के अधिष्ठाता छात्र कल्याण की ओर से छात्र को सीधे घर भेज दिया गया था। यहां 8 सितंबर को डेंगू बीमारी के इलाज के दौरान ही उसकी मौत हो गई। यूनिवर्सिटी के अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. डी नियोगी ने बताया कि एक छात्र संदीप की मौत हुई है। वहीं, राहुल पटेल की 21 अप्रैल को कोरोना काल में ही जान गई थी।

6 से ज्यादा कर्मियों की तैनाती के बावजूद भी अस्पताल सूना
एक छात्र ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यूनिवर्सिटी परिसर में इनका खुद का अस्पताल भी है, जहां डॉक्टरों के साथ 6 से ज्यादा कर्मियों की तैनाती रहती है। इसके बावजूद भी अस्पताल पूरी तरह से संसाधन विहीन है। अस्पताल के नाम पर लाखों रुपए का वारा-न्यारा यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा हर महीने किया जा रहा है। अस्पताल का आलम यह है कि जब से अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदा गया है, तब से आज तक उस ऑक्सीजन सिलेंडर में ऑक्सीजन भराई ही नहीं जा सकी।

खबरें और भी हैं...