बीमा धन व प्रेमी की चाह में पति की हत्या:दूसरी शादी से खफा नीलम ने प्रेमी के साथ पति की गला दबा हत्या की और शव को बोरे में फेंक दिया, गुमशुदगी दर्ज कराई

अयोध्या20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेमी के सुख व पति के बीमा धन के लिए पहली पत्नी ने धोखे से बुलाकर पति की हत्या कर दी और लाश को बोरे में भरकर फेंक दिया - Dainik Bhaskar
प्रेमी के सुख व पति के बीमा धन के लिए पहली पत्नी ने धोखे से बुलाकर पति की हत्या कर दी और लाश को बोरे में भरकर फेंक दिया

अयोध्या में पत्नी नीलम ने अपने प्रेमी व उसके साथियों के साथ मिलकर अपने पति अरमान की गला दबाकर हत्या करने बाद लाश को बोरे में भरकर नहर के किनारे फेंक दियाl वह पति की मौत के बाद उसके बीमा से मिलने वाले धन से अपने प्रेमी भीम के साथ शादी कर घर बसाना चाहती थीl

नीलम ने जब पुलिस को अरमान के मौत की सच्चाई बताई तो एसएसपी सहित जांच अधिकारी भी उसकी मंशा जान दंग रह गए
नीलम ने जब पुलिस को अरमान के मौत की सच्चाई बताई तो एसएसपी सहित जांच अधिकारी भी उसकी मंशा जान दंग रह गए

कचहरी से लिए घर से निकला था अरमान
24 सितंबर को नीलम पत्नी अरमान नि0 जयसिंह पुर, मंगता का पुरवा थाना कोतवाली अयोध्या ने अपने पति अरमान उम्र 35 वर्ष के 22 सितंबर को दिन 10 बजे घर से कचहरी के लिए जाने की बात कहकर निकलने के बाद गायब होने की सूचना दी गयी थी। जांच में उक्त गुमशुदा अरमान पुत्र शंकर नि0 जयसिंह पुर मंगता का पुरवा थाना कोतवाली अयोध्या का शव दिनांक 02 अक्टूबर को सुबह में ग्राम बैसिंह पुर थाना पूरा कलन्दर स्थित नहर में एक बोरे व पालीथीन में रखी हुई प्राप्त हुई। जिसकी सूचना मृतक अरमान की पत्नी नीलम ने थाना पूरा कलन्दर को दी गईl

पीएम के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच में तेजी आई

जहाँ से शव का पंचायतनामा कर पोस्टमार्टम की कराया गयाl नीलम की तहरीर पर मुअसं 503/21 धारा 302/201/34 भादवि के तहत बनाम भीम, रोशन पुत्रगण नवमी नि0गण सरेठी थाना को0अयोध्या जनपद अयोध्या, लुबुन्नू उर्फ अनिल पुत्र सहवाले नि0 ददेरा थाना पूराकलन्दर जनपद अयोध्या व मौजीराम पुत्र रमजसा नि0 चिथड़िया नाका थाना को0नगर जनपद अयोध्या के विरूद्ध थाना स्थानीय पर पंजीकृत कराया गया।

चार अभियुक्त पकड़े गए

उक्त घटना में अनावरण व अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अयोध्या के निर्देश पर थाना को0अयोध्या व स्वाट/सर्विलांस की संयुक्त टीम गठित की गयी तथा अभियुक्तगण की गिरफ्तारी के लिए क्षेत्राधिकारी अयोध्या के कुशल परिवेक्षण में थाना को0अयोध्या व स्वाट/सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा उक्त घटना का सफल अनावरण करते हुए 04 अभियुक्त को आज गिरफ्तार किया गयाl

अरमान की दूसरी शादी के बाद नीलम का भीम से प्रेम संबंध हो गया

अभियुक्त की निशादेही पर मृतक अरमान पुत्र शंकर की मोटरसाइकिल पल्सर रंग काली नं0 UP 42 AN 6155 व मृतक की पासबुक(यूको बैंक) की बरामदगी की गयी। पकड़े गये अभियुक्तों के पूछने पर वादिनी मुकदमा/अभियुक्ता श्रीमती नीलम पत्नी अरमान उपरोक्त बताया कि उसके तथा नामजद अभियुक्त भीम पुत्र नवमी उपरोक्त के बीच कई वर्षों से आंतरिक सम्बन्ध हैं। नीलम के पति ने 03 वर्ष पहले एक दूसरी लड़की खुशी से भी शादी कर लिया था तथा पति अरमान वादिनी के ऊपर ध्यान नही देता था जिससे वादिनी नीलम उपेक्षित होकर अपने मायके आशापुर में ही रहती थी।

पति अरमान के जिन्दा रहते नीलम भीम से शादी नहीं कर पा रही थी

वादिनी नीलम अभियुक्त भीम के साथ शादी करना चाहती थी किन्तु पति अरमान के जिन्दा रहते यह सम्भव नही हो सकता था। दूसरा कारण अभियुक्त भीम अपने छोटे भाई जिद्दी की पत्नी लक्ष्मी की वर्ष 2019 में घर में ही गोली मारकर हत्या कर दी थी जिसके सम्बन्ध में थाना को0अयोध्या में मु0अ0सं0 637/19 धारा 302 भादवि0 का अभियोग पंजीकृत है। जिसमें अभियुक्त भीम गिरफ्तार होकर जेल गया था, अभियुक्त भीम अपनी जमानत के लिए अरमान को काफी पैसे दिये थें किन्तु अरमान न तो जमानत कराया और न ही पैसे वापस किये।

नीलम व उसके प्रेमी ने अरमान को धोख से सरेठी गांव बुलाया और हत्या कर दी

जबकि भीम के द्वारा अरमान से बराबर पैसे मांगा जाता रहा, घटना के दिन भीम व अभियुक्ता नीलम की पूर्व नियोजित योजना व बातचीत के क्रम में षड़यंत्र करके भीम ने अरमान को अपने गांव सरेठी बुलवाया गया तथा मृतक अरमान के सरेठी गांव पहुंचने पर दिनांक 22.09.2021 को ही दिन में लगभग 10.30 बजे अरमान की भीम व उसके तीन भाई व बहनोई लुबुन्नू के द्वारा घर में ही गला दबाकर हत्या कर दी गयी थी तथा शव को अंधेरा होने के बाद बोरे व पालिथीन में रखकर बालू की बोरी के साथ ग्राम बैसिंहपुर थाना पूरा कलन्दर के पास नहर में फेंक दिया गया था। मृतक की मोटरसाइकिल पल्सर को भीम के दो भाई ले जाकर गोसाईगंज थाना क्षेत्र में ग्राम अमसिन के पास लावारिस छोड़कर आ गये थेंl इस घटना में एफ0आई0आर में नामजद मौजीराम पुत्र रमजसा निवासी चिथड़िया नाका थाना को0नगर जनपद अयोध्या की घटना में शामिल होना नही पाया गयाl

खबरें और भी हैं...