ऊर्जा मंत्री ने की विद्युत निगम के कार्यों की समीक्षा:अरविंद कुमार शर्मा ने कहा अयोध्या को पूर्ण रूप से विद्युत कटौती मुक्त रखते हुए की जाए विद्युत आपूर्ति

अयोध्या9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या सर्किट हाउस में ऊर्जा मंत्री तथा अयोध्या मंडल के प्रभारी मंत्री अरविंद कुमार शर्मा अधिकारियों के साथ बैठक समीक्षा बैठक करते हुए - Dainik Bhaskar
अयोध्या सर्किट हाउस में ऊर्जा मंत्री तथा अयोध्या मंडल के प्रभारी मंत्री अरविंद कुमार शर्मा अधिकारियों के साथ बैठक समीक्षा बैठक करते हुए

उत्तर प्रदेश सरकार विकास एवं ऊर्जा मंत्री तथा अयोध्या मंडल के प्रभारी मंत्री अरविंद कुमार शर्मा ने शनिवार को सर्किट हाउस में विद्युत निगम के कार्यों की समीक्षा की। प्रमुख सचिव ऊर्जा एम देवराज के अतिरिक्त अयोध्या मंडल के मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता, अवर अभियंता, अधिकारी एवं कर्मचारियों बैठक में शामिल रहे।

उपभोक्ता से सही तरीके से पेश आएं अधिकारी

अरविंद कुमार शर्मा ने विभाग के अधिकारियों से कहा कि उपभोक्ता से सही तरीके से पेश आएं तथा उनके बिलों को सही तरीके से सही एमाउंट का बिल समय से पहुंचाया जाए, और विभिन्न एजेंसी को अब पेमेंट लेने का भी अधिकार दिया गया है। जिसको और प्रोत्साहित किया जाए तथा इसका प्रचार प्रसार किया जाए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि जो खराब ट्रांसफार्मर हैं उन्हें तत्काल बदला जाए तथा एक ही स्थान पर बार-बार ट्रांसफार्मर क्यों जलते हैं इसकी तकनीकी जानकारी लिया जाए तथा बेहतर गुणवत्ता के साथ कार्य किया जाए। जनप्रतिनिधि एवं आम जनमानस से प्राप्त शिकायतों का गुणवत्ता के साथ समय से निस्तारित किया जाए तथा अयोध्या को पूर्ण रूप से विद्युत कटौती मुक्त रखते हुए विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित किया जाए। अगली बैठक अगले माह में की जाएगी यदि स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो कठोर कार्रवाई की जाएगी।

पार्कों का सुंदरीकरण का दिया आदेश

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि नगर विकास विभाग उत्तर प्रदेश शासन द्वारा निम्न बिंदुओं पर समीक्षा की गयी एवं महत्वपूर्ण निर्देश दिए-चौराहों और पार्कों का सुंदरीकरण व अनुरक्षण करें। ग्रीन स्पेस डेवलप करें व सघन वृक्षारोपण करें। सीएसआर फंड व नगर के ऐसे व्यक्ति जो चैराहों,कुंड, पार्को आदि के सुंदरीकरण में इच्छा रखते हैं उनके सहयोग से कार्य कराएं। नाली नाली की गहरी सफाई करें जिससे जलभराव की समस्या उत्पन्न ना हो, नियमित सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान आकर्षित करें व उच्च अधिकारी नियमित निरीक्षण करें, निगम के कार्यों में गुणवत्ता एवं जन सहभागिता सुनिश्चित करें ।

खबरें और भी हैं...