• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Ayodhya Land Purchase Case: Ram Mandir Trust Members Champat Rai And Dr Anil Mishra Join RSS Meeting In Mumbai Today श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट की मुंबई में इमरजेंसी बैठक

श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट और RSS की मुंबई में बैठक:संघ ने जमीन घोटाले के आरोपों पर ट्रस्ट से किए सवाल, 26 जून को अयोध्या के विजन डॉक्यूमेंट पर PM की अफसरों के साथ मीटिंग

अयोध्या5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अयोध्या में जमीन घोटाले के आरोपों के बाद RSS और श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की गुरुवार को मुंबई में एक इमरजेंसी बैठक हुई। इसमें ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय, कोषाध्यक्ष महंत गोविन्द देव गिरी जी महाराज और सदस्य डॉ. अनिल मिश्र शामिल हुए हैं। संघ की तरफ से भी भैया जी जोशी समेत कुछ वरिष्ठ पदाधिकारी शामिल हुए।

यह बैठक करीब 2 घंटे से ज्यादा चली। इसमें संघ पदाधिकारियों ने अयोध्या में जमीन विवाद को लेकर उठाए जा रहे सवालों की जानकारी ट्रस्ट के सदस्यों से ली है। बैठक में इस बात की चर्चा हुई कि जमीन पर उठाए गए सवाल गलत हैं तो आरोप लगाने वाले नेताओं के खिलाफ मानहानि का दावा किया जाए। इसके अलावा अयोध्या में मंदिर निर्माण और विकास कार्य को लेकर बातचीत हुई।

अयोध्या का विजन डॉक्यूमेंट्स देंखेंगे मोदी
अयोध्या में राम मंदिर के लिए जमीन की खरीद में घोटाले के आरोपों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 जून को अयोध्या के बड़े अफसरों के साथ मीटिंग करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या के विजन डॉक्यूमेंट्स को देखेंगे।

यह डॉक्यूमेंट्स 30 सालों के लिए बनाया गया है। जबकि इसकी एक स्टडी रिपोर्ट आगामी 100 साल के अयोध्या के स्वरूप और उसकी आवश्यकताओं को लेकर तैयार की जा रही है। इस मीटिंग में उत्तरप्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ और पर्यटन मंत्री भी शामिल होंगे। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या के विकास से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा करेंगे।

20 हजार करोड़ रुपए की विकास योजनाएं तैयार
अयोध्या डेवलपमेंट अथॉरिटी (ADA) ने शहर के लिए 20 हजार करोड़ रुपए की विकास योजनाएं तैयार की हैं। इसे अयोध्या में रहने वाले 5 हजार लोगों ने मिलकर तैयार किया है। इसके अलावा, विकास के लिए अलग-अलग देशों और राज्यों से आए 500 टूरिस्ट के सुझाव भी लिए गए हैं। बताया जाता है कि बैठक में प्रधानमंत्री एक-एक योजना की प्रोग्रेस रिपोर्ट जानेंगे। PMO ने सभी विभागीय अफसरों को इसके लिए तैयार रहने के लिए कहा है।

मुंबई में विले पार्ले स्थित संन्यास आश्रम में बैठक हुई
इससे पहले मुंबई में विले पार्ले स्थित संन्यास आश्रम में संघ और ट्रस्ट की बैठक हुई। बताया जा रहा है कि जमीन घोटाले विवाद में चंपत राय और ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र अपना पक्ष रखा। ट्रस्ट ने आरोप लगाने वालों पर मानहानि का केस करने के फैसले पर भी सहमति बनाने की कोशिश की है। यह भी बताया जा रहा है कि संघ के सह सर कार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल कुछ दिन पूर्व राम जन्मभूमि परिसर का निरीक्षण करने आए थे। उसके बाद यह बैठक बुलाई गई है।

सपा के पूर्व मंत्री ने सबसे पहले उठाए थे सवाल
अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए खरीदी गई जमीन में सपा नेता व पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडेय पवन ने भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि दो करोड़ रुपए में बैनामा कराई गई जमीन को 10 मिनट के अंदर 18.50 करोड़ रुपए में रजिस्टर्ड एग्रीमेंट कर दिया गया।

पवन ने पूरे मामले में दस्तावेज पेश करते हुए इसकी जांच CBI से कराने की मांग की है। इस मामले को लेकर कांग्रेस एवं आम आदमी पार्टी ने भी यूपी सरकार पर हमला बोला था।

आप के नेता संजय सिंह ने भी उठाए थे सवाल
राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह ने बीते दिनों प्रेस कॉन्फ्रेंस करके ट्रस्ट के सदस्यों पर जमीन खरीदने में फर्जीवाड़ा करने का आरोप लगाया था। हालांकि, ट्रस्ट ने उनके द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को खारिज कर दिया था। बीजेपी के नेताओं ने भी ट्रस्ट के सदस्यों पर लगे आरोपों पर उनका बचाव किया था। अयोध्या जमीन खरीद मामले में आरोप लगने के बाद आरएसएस के पदाधिकारियों की ट्रस्ट के सदस्यों के साथ पहली बैठक हो रही है।

खबरें और भी हैं...