• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Construction Of 16 Feet High Ramchabutra Will Start From Deepawali Or Devotthani Ekadashi, Ram Temple Construction Issue Will Be Sanjeevani For BJP In Upcoming Elections

राममंदिर ट्रस्ट इस दीपावली को देगा खास उपहार:दीपावली अथवा देवोत्थानी एकादशी से शुरु होगा 16 फिट ऊंचा रामचबूतरा का निर्माण,आगामी चुनावों में भाजपा के लिए संजीवनी होगा राममंदिर निर्माण मुद्दा

अयोध्या4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या में बनने वाले भव्य राममंदिर का माडल - Dainik Bhaskar
अयोध्या में बनने वाले भव्य राममंदिर का माडल

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र इस बार की दीपावली अथवा देवोत्थानी एकादशी पर करोड़ों रामभक्तों को विशेष उपहार देने की योजना बना रहा हैlइसके लिए दिल्ली में मंगलवार को दो दिवसीय गोपनीय बैठक के पहले दिन ट्रस्ट के पदाधिकारियों व मंदिर निर्माण समिति की बैठक में यह मंथन किया गयाl परिस्थितियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में राममंदिर महत्वपूर्ण मुद्दा होगाl इसी संजीवनी के बूते भाजपा की नैया इस विधानसभा चुनाव के साथ ही लोकसभा चुनाव 2024 में पार लगाने की योजना राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने तैयार कर लिया हैlअब इसी रणनीति के तहत काम चल रहा हैl

कार्य दीपावली तक हर हाल में पूरा करने के लिए रात-दिन राममंदिर का काम चल रहा

इस साल दीपावली चार नवम्बर को हैंl इस अवसर पर अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में तीन नवम्बर को कम से कम सात लाख 51 हजार दीप सरयूतट स्थित राम की पैड़ी पर जलाए जाने हैंl इस समय राममंदिर के नींव के 44 में 35 लेयर का निर्माण पूरा कर लिया गया हैl 44 लेयर के निर्माण का काम ट्रस्ट की घोषित तिथि 15 सितम्बर के पहले पूरा होना तय हैlइसके बाद नींव को और मजबूती देने के लिए ललितपुर के पत्थरों का सात फिट मोटा आधार बनना हैl यह कार्य दीपावली तक हर हाल में पूरा करने के लिए रात-दिन राममंदिर निर्माण का काम चल रहा हैl

कोशिश कि दीपावली अथवा देवात्थानी एकादशी के दिन रामचबूतरा का निर्माण शुरू हो जाय

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की कोशिश है कि दीपावली अथवा 14 नवंबर को देवात्थानी एकादशी के दिन राममंदिर के लिए 16 फिट ऊंचा रामचबूतरा का निर्माण शुरू हो जायl इसी पर बंशीपुर के गुलाबी पत्थरों से राममंदिर बनेगाlराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी डॉ अनिल मिश्र के अनुसार अब तक राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए 24 घंटे 2 शिफ्टों में नींव निर्माण कार्य का कार्य चल रहा है।राम जन्मभूमि मंदिर की नींव 400 फिट लंबी 300 फिट चौड़ी 50 फिट गहरी बनाई गई है।

यह राममंदिर का बेस प्लेटफॉर्म

राम मंदिर की नींव 44 लेयर से भरी जा रही है।एक लेयर 12 इंच मोटी बनाई जा रही है जिसको बनाने में तीन दिन लगता है।ट्रस्टी डॉ अनिल मिश्र ने बताया कि मंदिर निर्माण के लिए नींव की भराई का काम अक्टूबर माह तक कंप्लीट हो जाएगा।उसके बाद मिर्जापुर के लाल पत्थरों से 16 फीट ऊंचे रामचबूतरे को बनाने का कार्य शुरू होगा।यहराम मंदिर का बेस प्लेटफॉर्म है।

राममंदिर निर्माण में इन्हीं पत्थरों का प्रयोग किया जाएगा
राममंदिर निर्माण में इन्हीं पत्थरों का प्रयोग किया जाएगा

रामजन्मभूमि परिसर में कार्यशाला स्थापित कर तराशने का काम किया जाएगा

रामचबूतरे के बेस के लिए उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर विध्यवासिनी धाम के पत्थरों को प्रयोग में लाया जाएगा ।निर्माण के लिए यह पत्थर अयोध्या पहुचने शुरू हो चुके हैं।इन पत्थरों को निश्चित स्वरूप देने के लिए रामजन्मभूमि परिसर में कार्यशाला स्थापित कर तराशने का काम किया जाएगा।ट्रस्टी डॉ अनिल मिश्र ने स्पष्ट किया कि राम मंदिर निर्माण में बेस बनने के बाद पिंक स्टोन का प्रयोग किया जाएगा।पिंक स्टोन राजस्थान के बंशी पहाड़पुर से मंगाए जा रहे हैं।राम मंदिर निर्माण में बेस बनने के बाद पिंक स्टोन का प्रयोग किया जाएगा

एक लाख घन फुट पत्थर कार्यशाला में तराशे जा चुके हैं

हालांकि एक लाख घन फुट पत्थर कार्यशाला में तराशे जा चुके हैं।इन पत्थरो को रामघाट कार्यशाला से राम जन्मभूमि परिसर पहुचाने का कार्य भी आधा से ज्यादा हो चुका है।ट्रस्टी डॉ अनिल मिश्र का कहना है कि राजस्थान में गैर भाजपा सरकार है लेकिन पिंक स्टोन पत्थरो को लाने में कोई दिक्कत नही होगी।

खबरें और भी हैं...