• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Crowd Of Faith Gathered On The Day Of The Sixth Guru Har Gobind Singh Leaving 400 Years Captive.Ayodhya. Najarbag. Gurmat Samagam. Sixth Guru Har Gobind Singh,

अयोध्या...गुरमत समागम में शामिल हुए 5 हजार श्रद्धालु:6वें गुरु हर गोविंद सिंह के 400 साला बंदी छोड़ दिवस उमड़ा आस्था का सैलाब

अयोध्या25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिख धर्म के 6वें गुरु हर गोविंद सिंह के 400 साला बंदी छोड़ दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मचासीन बाबा महेंद्र सिंह व अन्य। - Dainik Bhaskar
सिख धर्म के 6वें गुरु हर गोविंद सिंह के 400 साला बंदी छोड़ दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में मचासीन बाबा महेंद्र सिंह व अन्य।

अयोध्या के ऐतिहासिक गुरु नानक गोविंद धाम, नजर बाग में शुक्रवार काे श्रद्धा,भक्ति और उल्लास का संगम उमड़ पड़ा। सिख धर्म के महान गुरमत समागम का हर साल की तरह दीपावली के अगले दिन यानी अन्नकूट काे मनाया गया। समागम में अयोध्या सहित पूर्वांचल के पांच हजार सिख श्रद्धालु उपस्थित रहे।

अयोध्या के ऐतिहासिक गुरु नानक गोविंद धाम, नजर बाग में समागम में मौजूद श्रद्धालु।
अयोध्या के ऐतिहासिक गुरु नानक गोविंद धाम, नजर बाग में समागम में मौजूद श्रद्धालु।

6वें गुरु हर गोविंद सिंह के 400 साला बंदी छोड़ दिवस पर मनाया जाता

यह महान गुरमत समागम गुरु ग्रंथ साहिब महाराज के गुरता गद्दी दिवस और सिख धर्म के 6वें गुरु हर गोविंद सिंह के 400 साला बंदी छोड़ दिवस पर मनाया जाता है। जाे विगत 15 साल से गुरुद्वारा नजरबाग में परम्परागत मनाया जा रहा है। कार्यक्रम के क्रम में इस धरती से काेराेना खात्मे हेतु गत 3 नवंबर से गुरू ग्रंथ साहिब का अखंड प्रारम्भ था, जिसका समापन शुक्रवार को हुआ। इसके पश्चात भजन-कीर्तन की भक्तिमय धारा बनी रही।

ईश्वर की भक्ति और भरोसे से हर समस्या से उबरा जा सकता है

इस अवसर पर गुरू नानक गोविंद धाम गुरू द्वारा के जत्थेदार बाबा मोहिंदर सिंह ने उपदेश देते हुए कहा कि हम सब गुरुओं के मार्ग पर चल कर अपने जीवन के लक्ष्य की प्राप्ति कर सकते हैं। जीवन में कैसी भी परिस्थिति हाे ईश्वर की भक्ति और ईश्वर पर भरोसा रखकर हर समस्या से उबरा जा सकता है। समाज के लिए आज की मूल समस्या पर्यावरण एवं गलत खानपान की है, जिसकी वजह से जहां हम अपने स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। ताे वहीं पर्यावरण भी दूषित हाे रहा है। स्वस्थ तन में ही स्वस्थ मन का वास होता है। इसलिए हम लाेगाें काे स्वास्थ्य वर्धक आहार ही लेना चाहिए। अंत में बाबा ने सभी का आभार ज्ञापित किया।

पांच हजार श्रद्धालुओं ने लंगर का प्रसाद चखा

इस माैके पर गुरुद्वाराके सेवादार सरदार नवनीत सिंह ने आए हुए अतिथियों का अंगवस्त्र ओढ़ाकर स्वागत-सम्मान किया। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम अयोध्या -फैजाबाद समूह गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सहयोग से आयोजन किया गया था। अंत में पांच हजार श्रद्धालुओं ने लंगर प्रसाद चखा। गुरमत समागम में नानकपुरा प्रधान जसवीर सिंह सेठी, गुरुद्वारापुलिस लाइन के सचिव प्रतिपाल सिंह पाली, पूर्व चेयरमैन सरदार महेंद्र सिंह, समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा टांडा, ब्रह्मकुंड गुरूद्वारा के ज्ञानी गुरजीत सिंह, पूर्व मंत्री तेजनारायण पांडेय,सांसद लल्लू सिंह के पुत्र विकास सिंह, कंवलजीत सिंह, करनाल से आए संत मंजीत सिंह व संत सतनाम सिंह केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति अध्यक्ष मनोज जायसवाल, सिंधी समाज से अमृत राजपाल, तेजिंदरपाल सिंह टिंकल समेत काफी संख्या में श्रद्धालु गण मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...