पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राम भक्तों के लिए खुशखबरी:अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को रामलला के दर्शन के साथ मां सीता की रसोई का प्रसाद भी मिलेगा, शुल्क पर जल्द होगा फैसला

अयोध्या2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रसाद सभी भक्तों को मिले यह श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का प्रयास होगा। - Dainik Bhaskar
प्रसाद सभी भक्तों को मिले यह श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का प्रयास होगा।

अयोध्या में आने वाले भक्तों को रामलला के दर्शन के साथ-साथ मां सीता की रसोई का प्रसाद भी मिलेगा। यह प्रसाद सभी भक्तों को मिले यह श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का प्रयास होगा। हालांकि, इसके शुल्क का निर्णय मंदिर निर्माण में नींव का काम पूरा होने के बाद ही लिया जाएगा।

मान्यता है कि माता-सीता इसी स्थल पर रसोई बनाती थी
रामजन्मभूमि से सटा सीता रसोई मंदिर सैकड़ों साल पुराना है। यह स्थान अधिग्रहीत परिसर के 70 एकड़ के अंदर है। मान्यता है कि माता सीता इसी जगह पर रसोई बनाती थी। उनकी स्वादिष्ट रसोई भगवान श्रीराम के साथ-साथ हनुमान जी को भी बहुत प्रिय थी। अब श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट माता सीता की इसी रसोई का प्रसाद रामभक्तों को परासने के लिए योजना बना रहा है।

रामलला मंदिर का माडल
रामलला मंदिर का माडल

सैकड़ों ऐसे मंदिर हैं, जहां रोज श्रद्धालुओं को बिन शुल्क मिल रहा प्रसाद
अयोध्या के मणिराम दास जी की छावनी, श्रीरामवल्लभाकुंज, दशरथ महल, सियाराम किला, बड़ी छावनी, रंगमहल समेत सैकड़ों ऐसे मंदिर हैं, जहां रोज आने वाले श्रद्धालुओं को बिना किसी शुल्क के प्रसाद मिल रहा है। अमावाराज मंदिर की रामरसोई व रामकोट मुहल्ले के श्रीरामअन्न क्षेत्र में प्रतिदिन हजारों लोग प्रसाद पा रहे हैं।

अयोध्या में हनुमान जी का वेष रखकर लोगों के आकर्षण का केंद्र बना रामभक्त
अयोध्या में हनुमान जी का वेष रखकर लोगों के आकर्षण का केंद्र बना रामभक्त

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल कहते हैं कि सीता रसोई बहुत प्राचीन व ऐतिहासक है। अयोध्या आने वाले भक्तों को रामलला के दर्शन के साथ माता सीता की रसोई का प्रसाद मिले। धार्मिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट श्रद्धालुओं की धार्मिक भावनाओं का बहुत ही बेहतर तरीके से ध्यान रखना चाहता है। सीता रसोई का प्रसाद इसी दिशा में हमारा एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

खबरें और भी हैं...