पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अयोध्या में दहेज हत्या:विवाहिता का संदिग्ध अवस्था में फांसी पर लटका मिला शव, पति,सास व ससुर पर मुकदमा दर्ज, पुलिस ने तीनों को किया गिरफ्तार

अयोध्या4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
विवाहिता के पिता की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। - Dainik Bhaskar
विवाहिता के पिता की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले के कुमारगंज थाना क्षेत्र के पिठला गांव में विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में पुलिस ने विवाहिता के पिता की तहरीर पर पति सहित तीन लोगों के विरुद्ध दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मामले में तत्परता दिखाते हुए पुलिस ने घटना में आरोपित किए गए विवाहिता के पति ससुर एवं सास को गिरफ्तार भी कर लिया है।

मायके वालों ने बेटी की हत्या का लगाया आरोप

पिठला गांव में बीते 10 जून को अपराह्न करीब 3 बजे राम मनोरथ की पत्नी आरती उम्र करीब 25 वर्ष का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर के अंदर कमरे में फांसी के फंदे से लटका मिला था। सूचना पाकर मौके पर पहुंची कुमारगंज पुलिस ने महिला का शव फंदे से नीचे उतर पाकर पंचायत नामा कराने के उपरांत पोस्टमार्टम को भेज दिया था। घटना की जानकारी पाकर विवाहिता के पिता सहित अन्य मायके वाले भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने दहेज के मांग पूरी ना करने पर बेटी की हत्या कर दिए जाने का आरोप लगाया।

शादी के बाद से मोटर साइकिल की मांग करते रहे

पुलिस को दी गई तहरीर में विवाहिता के पिता राम सागर पुत्र बरसाती निवासी ग्राम महोली गुलालपुर थाना रौनाही ने आरोप लगाया है कि उसने अपनी बेटी आरती की शादी बीते वर्ष 2017 में हिंदू रीति रिवाज के अनुसार किया था और शादी में दहेज के सारे सामान भी दिए थे। शादी के बाद से मेरी बेटी के पति व उसके ससुर तथा सास मोटरसाइकिल की मांग करते रहे यह बात उसकी बेटी उसे बताती रहती थी और दहेज के लिए प्रताड़ित किया करते थे।

बेटी की हत्या को आत्महत्या का रूप दिया
विवाहिता के पिता का आरोप है कि दहेज की मांग न पूरी कर पाने के चलते उसकी बेटी की हत्या कर उसके शव को फांसी पर लटका कर आत्महत्या का रूप दिया गया है। विवाहिता के पिता की तहरीर पर थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने विवाहिता के पति राम मनोरथ और उसके ससुर स्वामीनाथ व सास उर्मिला के विरुद्ध धारा 498 ए 304 बी आईपीसी एवं 3/4 दहेज उत्पीड़न अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

खबरें और भी हैं...