परमहंस बोले- नूपुर शर्मा समर्थक के हत्यारे को मिले फांसी:फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो मामले की सुनवाई; केंद्र सरकार करे सख्त कार्रवाई

अयोध्याएक महीने पहले
अयोध्या के तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर परमहंस आचार्य ने राजस्थान के उदयपुर में हुई नूपुर शर्मा समर्थक की हत्या पर नाराजगी जताई है।

राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थक की हत्या हो गई थी। इसको लेकर अयोध्या के तपस्वी छावनी के पीठाधीश्वर परमहंस आचार्य ने नाराजगी जताई है। उन्होंने केंद्र सरकार से मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने को कहा है। साथ ही दोनों आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी दिलाने की मांग की है। उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत गलत हुआ है। जिसने हत्या की है, उस पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। नूपुर शर्मा ने कोई गलत बात नहीं कही थी। जो उनके ग्रंथों में लिखा है, वही कहा था।’’

बोले- लगातार हिंदुओं की हत्या बर्दाश्त नहीं

परमहंस आचार्य ने कहा, ‘‘एक हिंदू टेलर की निर्मम हत्या की गई है। यह क्षमा करने वाला नहीं है। सनातन धर्म और देवी-देवताओं के खिलाफ किसी ने अभद्र टिप्पणी की। उसके विरोध में अगर किसी ने सोशल मीडिया पर कुछ लिख दिया, तो उसकी हत्या कर दी जाती है। देश संविधान से चलता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुस्लिम नौजवानों को भड़काकर कट्टरवादी सोच पैदा की जाती है। उसी का नतीजा है कि इस तरीके की हत्या की गई है। सरकार दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करे। अगर सरकार ऐसा नहीं करेगी, तो हम कानून को हाथ में लेंगे। हमारे साथ सौ करोड़ हिंदू भी होंगे।’’

परमहंस आचार्य ने कहा- नूपुर शर्मा ने तो वही कहा, जो मुसलमानों के ग्रंथ में लिखा हुआ है।
परमहंस आचार्य ने कहा- नूपुर शर्मा ने तो वही कहा, जो मुसलमानों के ग्रंथ में लिखा हुआ है।

‘‘नूपुर शर्मा ने नहीं कहा कुछ गलत’’

परमहंस आचार्य ने कहा, ‘‘नूपुर शर्मा ने क्या कहा था? उन्होंने तो वही कहा, जो मुसलमानों के ग्रंथ में लिखा हुआ है। उनके हदीस में लिखा है। जब इस तरह की घटना होती है, तो कोई मुसलमान विरोध नहीं करता है। अगर ऐसा ही होता रहा, तो आने वाले समय में हिंदू भी एकजुट होंगे। इसका नतीजा बहुत भयानक होगा। कट्‌टर विचार धारा के लोग पाकिस्तान और बांग्लादेश चले गए। ऐसे लोगों की भारत में कोई जगह नहीं है।’’

खबरें और भी हैं...