नगर निकाय चुनाव की तैयारियां शुरू:अयोध्या में पिछड़ी जातियों का रैपिड सर्वे हुआ शुरू, 10 जुलाई तक आपत्तियां दर्ज कराने का मौका

अयोध्या3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या में निकाय चुनाव को लेकर पिछड़ी जातियों का रैपिड सर्वे शुरू - Dainik Bhaskar
अयोध्या में निकाय चुनाव को लेकर पिछड़ी जातियों का रैपिड सर्वे शुरू

उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव को लेकर तैयारियां चल रही है। इसी क्रम में अयोध्या प्रशासन प्रथम चरण के सभी निकायों में पिछड़ी जातियों का रैपिड सर्वे शुरू कर दिया है। यह सर्वे आगामी एक जुलाई तक चलतेगा। सर्वे को लेकर आपत्तियां 10 जुलाई तक दर्ज कराई जाएगी।

12 जुलाई को आपत्तियों का होगा निस्तारण

प्रदेश शासन द्वारा नगर निगमों, नगर पालिका परिषदों और नगर पंचायतों के निर्वाचन में पिछड़े वर्ग के व्यक्तियों की संख्या के अवधारणा के लिए निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए प्रभारी अधिकारी एवं पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं। निकाय स्तर पर 3 और जिला स्तर पर 5 जुलाई तक इसका परीक्षण हो जायेगा। 10 जुलाई तक वार्डो में पिछड़ी जातियों की संख्या का अन्तिम प्रकाशन करके इस पर आपत्ति प्राप्त की जाएगी। इसके साथ ही 12 जुलाई तक आपत्तियों का निस्तारण कर दिया जायेगा।14 जुलाई तक पिछड़ी जातियों की जनसंख्या की सूचना का अन्तिम प्रकाशन होगा।

नवसृजित नगर पंचायत खिरौनी और कुमारगंज में भी होगा सर्वे

उप जिला निर्वाचन अधिकारी नगर निकाय व पंचायत सलिल पटेल ने बताया कि निर्धारित तिथियों के भीतर सर्वे और आपत्तियों का निस्तारण का काम पूरा कर लिया है। रैपिड सर्वे की रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी जहां से आरक्षण व्यवस्था लागू होगी। बता दें कि रैपिड सर्वे का काम अयोध्या नगर निगम और तीन नगर पालिकाओं समेत सात नगर पंचायतों में सर्वे कराया जा रहा है। जिनमें नवसृजित नगर पंचायत खिरौनी और कुमारगंज भी शामिल है।

अयोध्या नगर निगम में रैपिड सर्वे शुरू
अयोध्या नगर निगम में रैपिड सर्वे शुरू

नवम्बर में निकाय चुनाव की संभावना

संभावना जताई जा रही है कि पूरे प्रदेश में नवंबर के अंत तक निकाय चुनाव होंगे। जिसको लेकर प्रशासन तैयारियों में जुटा हुआ है। अयोध्या में 2017 के निकाय चुनाव के बाद छह नगर पंचायतों का सृजन किया गया जबकि अयोध्या नगर निगम व तीन नगर पालिकाओं के क्षेत्र का सीमा विस्तार किया गया है।