माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाबो देवी ने कहा:इमरजेंसी के दौरान पुलिस की बर्बरता व तानाशाही को याद कर मन में डर की झलक आ जाती है

अयोध्या3 महीने पहले
आपातकाल को 47 वर्ष पूरे होने पर सहादतगंज स्थित भाजपा कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाबो देवी

इमरजेंसी के दौरान पुलिस की बर्बरता व तानाशाही को याद करने के बाद आज भी लोगों के मन में डर की झलक आ जाती है। यह बात उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाबो देवी ने कहीं। भारतीय लोकतंत्र के काले अध्याय आपातकाल को 47 वर्ष पूरे होने पर सहादतगंज स्थित भाजपा कार्यालय पर शनिवार को कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान आपातकाल का विरोध करने वाले लोकतंत्र सेनानियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि माध्यमिक शिक्षा मंत्री गुलाबो देवी रही।

लोकतंत्र सेनानियों को किया गया सम्मानित

माध्यमिक शिक्षा मंत्री कहा कि लोकतंत्र को फिर से स्थापित करने व तानाशाही मानसिकता को हराने के लिए अपना सब कुछ कुर्बान करने वाले लोकतंत्र सेनानियों को सम्मानित करना गौरवपूर्ण क्षण है। कार्यक्रम के दौरान लोकतंत्र सेनानी सांसद लल्लू सिंह, पूर्व मंत्री अनिल तिवारी, आदित्य मिश्रा व कमलाशंकर पाण्डेय को अंगवस्त्र भेंट करके व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। सांसद लल्लू सिंह ने कहा कि लोकतंत्र सेनानियों ने यातनाओं को सहते हुए सरकार के आपातकाल लागू करने के निर्णय का विरोध किया। पूर्व मंत्री अनिल तिवारी ने कहा कि आपातकाल भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काले इतिहास के रूप में दर्ज है।

कांग्रेस सरकार का तानाशाही रवैया

महानगर जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा ने कहा कि आपातकाल के दौरान कांग्रेस सरकार का तानाशाही रवैया आज भी लोगों के जेहन में है। जिलाध्यक्ष संजीव सिंह ने कहा कि आपातकाल में उठने हर आवाज को सरकार बर्बरता पूर्वक दबाने का प्रयास करती थी। रुदौली विधायक रामचंद्र यादव, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राहुल राज रस्तोगी, क्षेत्रीय मंत्री कमलेश श्रीवास्तव, पूर्व जिलाध्यक्ष अवधेश पांडेय बादल, राघवेन्द्र पाण्डेय, शैलेन्दर कोरी, डॉ. राकेश मणि त्रिपाठी, तिलकराम मौर्या, दिवाकर सिंह आकाश मणि त्रिपाठी, आशा गौड़ रवि शर्मा सहित बड़ी संख्या में महानगर व जिले के पदाधिकारियों की उपस्थिति रही।

खबरें और भी हैं...