• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Said The Responsibility Of Taking The Country's Culture Further Lies On The Youth, Because The Youth Of India Is More Capable And Sensitive Than Other Countries.

डॉ चिन्मय पंड्या ने युवाओं को अयोध्या से दिया संदेश:कहा- देश की संस्कृति और आगे ले जाने की जिम्मेदारी युवाओं पर, क्योंकि भारत का युवा अन्य देशों की तुलना में अधिक समर्थवान और संवेदनशील

अयोध्या13 दिन पहले
अयोध्या स्थित गायत्री शक्तिपीठ का भूमि पूजन करते हुए डॉ चिन्मय पंड्या

देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति और अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख सदस्य डॉ चिन्मय पंड्या ने कहा कि भारत का युवा अन्य देशों की तुलना में अधिक समर्थवान है। यहां का युवा संवेदनशील और क्षमतावान है। बस इन्हें सही दिशा देने की जरूरत है।

भारत का युवा अन्य देशों की तुलना में अधिक समर्थवान और संवेदनशील

डॉ चिन्मय पंड्या अयोध्या के गायत्री शक्तिपीठ में बन रहे पांच मंजिला भवन के शिलान्यास और भव्य दीपयज्ञ कार्यक्रम शामिल होने के लिए शुक्रवार को अयोध्या पहुंचे थे। डॉ चिन्मय पंड्या पूरे देश में युवा चेतना शिविर आयोजित कर युवाओं को प्रेरित करते रहते है। शनिवार को दैनिक भास्कर से खास मुलाकात के दौरान उन्होंने युवाओं को एक संदेश देते हुए कहा कि भारत का भविष्य हमारी युवा पीढ़ी की सोच और उनके प्रदर्शन पर निर्भर करती है। युवा वर्ग में अनोखी काबिलियत होती है कि वह पूरी दुनिया को बदल सके। हमारी युवा पीढ़ी पूरी कायनात को बदलने की शक्ति रखती हैं।

भारत का युवा होते है अधिक सामर्थवान

डॉ पंड्या ने कहा कि जितना समर्थवान, जितना संवेदनशील, जितना क्षमताओं से भरा हुआ भारत का युवा है उतना शायद ही किसी देश का युवा होगा। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी के कंधों पर कुछ जिम्मेदारियां होती हैं। युवा वर्ग अपने हौसले और जुनून को सही मार्ग पर ले जाएं, तो एक सकारात्मक समाज की रचना कर सकते हैं। डा. पंड्या ने कहा कि युवा पीढ़ी को अपनी जिम्मेदारियों को धैर्य, लग्न और पूरे आत्मविश्वास के साथ निभाना चाहिए। हमारे देश की युवा पीढ़ी ने कई कार्यों को सफलतापूर्वक किए हैं और देश का नाम रोशन किया है।

खबरें और भी हैं...