स्वामी प्रबोधानंद बोले- उद्धव अपना नाम रावण रख लें:शिवसेना का नाम बदलकर रावण सेना रखना चाहिए, सीएम योगी की तारीफ

अयोध्या2 महीने पहले

हिंदू रक्षा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी प्रबोधानंद गिरि अयोध्या में शिवसेना की तुलना रावण सेना से की है। उन्होंने कहा, "उद्धव ठाकरे को शिवसेना का नाम बदलकर रावण सेना और अपना नाम रावण रख लेना चाहिए। वास्तव में शिवसेना का नाम ही गलत है। क्योंकि उद्धव ने जो काम किए है, वह रावण से भी बुरे थे "। राम मंदिर दर्शन के लिए आए है स्वामी प्रबोधानंद गिरि योगी आदित्यनाथ और उनके बुलडोजर की तारीफ करते दिखाई दिए।

हिंदु रक्षा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने स्वामी प्रबोधानंद गिरि ने रामलला के किए दर्शन।
हिंदु रक्षा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने स्वामी प्रबोधानंद गिरि ने रामलला के किए दर्शन।

उद्धव ने बाल ठाकरे का नाम किया कलंकित

स्वामी प्रबोधानंद गिरि ने कहा कि महाराष्ट्र के पालघर में जिस तहत से साधुओं को दौड़ा - दौड़ाकर मारा गया, उसकी जांच तक नहीं कराई गई। आज उसी पाप का परिणाम उद्धव ठाकरे भुगत रहे है। हिंदुओं के साथ किस तरह से अत्याचार किया जा सकता है, इस फैसले में वे अन्य पार्टियों की तुलना में आगे रहे। उद्धव ने तो पुराने सेक्युलरवादियों को भी पूछे छोड़ दिया। वास्तव में उद्धव ठाकरे सेक्युलरवादियों के शिरोमणि हो गए है। उद्धव ने बाल ठाकरे का नाम कलंकित किया है। बालठाकरे की आत्मा आज रो रही होगी। उनकी आत्मा उन्हें श्राप भी दे रही होगी, क्योंकि उन्होंने ऐसा नालायक बेटा पैदा किया, कि जो हिंदुओं और हिंदुत्व के नाम पर वोट लेकर सरकार बनाएगा और हिंदुओं के खिलाफ ही काम करेंगा।

बाबा का बुलडोजर राम का अवतार

स्वामी प्रबोधानंद गिरि ने कहा कि योगी आदित्यनाथ का बुलडोजर वास्तव में उत्तर प्रदेश में भगवान का अवतार साबित हुआ है। बुलडोजर को बाबा ने ऐसे लोगों पर चलाया है, जो गुंडे किसी की नहीं सुनते थे, धावा बोलते थे, बलात्कार करते थे, हिंदुओं का उत्पीड़न करते थे। आज उनको पता चल रहा है। बुलडोजर ने उत्तर प्रदेश की गुंडागर्दी खत्म कर दी। पूरे देश में हनुमान जी के जुलूस पर पत्थर फेंके गए, हमने नहीं सुना की यूपी में कहीं फेंके गए। यह बुल्डोजर उत्तर प्रदेश में राम का अवतार है। ये जहां से निकलता है वहां राक्षस साफ हो जाते है। पूरे देश में दंगे हुए, लेकिन उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं हुआ, दंगाइयों ने यहां पत्थर नहीं फेंका, क्योंकि उन्हें पता था, कि इसका जबाब बुलडोजर देगा। योगी आदित्यनाथ से मैं कहूंगा कि बुलडोजर की गति और तेज करें, गुंडों पर बुलडोजर चलाए और सत्पुरुषों की रक्षा करें। यहीं सुशासन है।

भगवान राम के भव्य मंदिर के दर्शन करने अयोध्या आया हूं

स्वामी प्रबोधानंद गिरि ने कहा कि हिंदुओं को जगाने के लिए पूरे देश में प्रवास पर रहता हूं, उसी प्रवास क्रम में अयोध्या आया हूं। दूसरा मेरा उद्देश्य राम लला का दर्शन पूजन और भव्य राम मंदिर निर्माण कार्य को देखना है। राम जन्मभूमि आंदोलन में मुझे भी ताला खोलने का अवसर प्राप्त हुआ था।

खबरें और भी हैं...