पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरिया ने भेजी सहायता:दक्षिण कोरिया ने अयोध्या से अपने भावनात्मक रिश्तों की डोर फिर मजबूत की,10 यूनिट ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेजा

अयोध्या2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दो हजार वर्ष पूर्व कोरियाई राजा सूरो से अयोध्या की रानी हो का विवाह हुआ था। - Dainik Bhaskar
दो हजार वर्ष पूर्व कोरियाई राजा सूरो से अयोध्या की रानी हो का विवाह हुआ था।

रिपब्लिक आफ दक्षिण कोरिया के गिमहे प्रान्त ने अयोध्या से अपने भावनात्मक रिश्तों की डोर फिर मजबूत की है। कोविड-19 की स्थिति की जानकारी मिलने पर जनपद अयोध्या के चिकित्सालयों में उपयोग के लिए उन्होंने 10 यूनिट ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेजा है। जिसे दिल्ली हवाई अड्डे से प्राप्त कर आज अयोध्या लाया गया।

जिलाधिकारी अयोध्या अनुज कुमार झा व मुख्य चिकित्सा अधिकारी अयोध्या डॉ घनश्याम सिंह ने इसे प्राप्त किया। जिलाधिकारी ने गिमहे (कोरिया गणराज्य के प्रांत) की सरकार का इस सहयोग आभार व्यक्त किया।

कोरियाई लोग अयोध्या को अपना ननिहाल मानते हैं

अयोध्या में सरयू तट पर महारानी हो कोरियाई राजा किम की स्मृति पार्क भारत और दक्षिण कोरिया के संबंधों को मजबूत कर रहा है। इस पार्क को भारतीय व दक्षिण कोरिया की शैली पर तैयार किया जा रहा है। जिसके लिए दक्षिण कोरिया के आर्किटेक्ट कीमती लकड़ियों के साथ अयोध्या पहुंच गए हैं। वही कोरियाई स्थापत्य कला का बेहतरीन नमूना प्रतिष्ठित किया जा रहा है। जिसमें कोरियाई राजा सूरो व अयोध्या की राजकुमारी हो के स्मारक में देखने को मिलेगा। इसी के जरिए दो हजार वर्ष पुरानी अयोध्या व कोरिया की साझी विरासत का दर्शन हो सकेगा।

प्रतिवर्ष कोरियाई दल करता है अयोध्या का दौरा

दो हजार वर्ष पूर्व कोरियाई राजा सूरो से अयोध्या की रानी हो का विवाह हुआ था। इस वजह से कोरियाई लोग अयोध्या को अपना ननिहाल मानते हैं। प्रतिवर्ष कोरियाई दल अयोध्या आकर पूर्व निर्मित रानी हो के स्मारक में श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं।

खबरें और भी हैं...