अयोध्या पुलिस ने लूट का किया खुलासा:शातिराना तरीखे से बदमाशों ने दिया था घटना को अंजाम, चार आरोपियों गिरफ्तार, लूट के 1 लाख 42 हजार रुपये बरामद

अयोध्या9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या पुलिस ने लूट का किया खुलासा, चार आरोपियों को गिरफ्तार किया - Dainik Bhaskar
अयोध्या पुलिस ने लूट का किया खुलासा, चार आरोपियों को गिरफ्तार किया

अयोध्या पुलिस ने सोहावल तहसील क्षेत्र में 7 अप्रैल को स्टांप विक्रेता लियाकत हुसैन से हुई साढ़े चार लाख की लूट का खुलासा किया है। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जिसके पास से लूटे गए रुपयों में से 1 लाख 42 हजार रुपये बरामद किए हैं। इसके अलावा कट्टा और दो बाइक भी बरामद की है। वारदात में शामिल एक आरोपी फरार है।

शातिराना तरीके से दिया गया घटना को अंजाम

एसपी ग्रामीण अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि घटना को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने बकायदा प्लान तैयार किया था। वारदात के लिए एक तहसील से रेकी कर रहा था और एक छोटा हाथी लेकर बाइक से घर जा रहे स्टांप विक्रेता के पीछे था । उसी वाहन से टक्कर मार कर गिरा कर लूट अंजाम दी गई। उन्होंने बताया कि तीन बदमाश बाइक पर पीछे थे, जो रूपयों से भरा बैग छीन कर भागे थे। तहसील से ही पीछे लगा एक बदमाश बराबर साथियों को स्टांप विक्रेता की लोकेशन की सूचना दे रहा था। पकड़े गए चारों बदमाशों को शनिवार सुबह साढ़े छह बजे सालारपुर शराब फैक्ट्री के पास छापामार लवकुश ग्राम बना का पुरवा मानापुर, पूराकलन्दर, शिवजीत यादव उर्फ जीते ग्राम फत्तेपुर सरैया कैंट, मनीष कुमार यादव ग्राम जलालाबाद कैंट और सचिन यादव मुम्ताजनगर को गिरफ्तार किया गया है। जबकि छोटा हाथी चलाने वाले बदमाश की तलाश की जा रही है।

लूट के एक 42 हजार रुपये बरामद

एसपी ग्रामीण ने बताया कि चारों आरोपियों के पास से लूटी गई संपत्ति का अंश 1 लाख 42 हजार, आधार कार्ड व एक अदद पिट्ठू बैग व 7 अदद स्टाम्प प्रपत्र बरामद किया गया है। इसके अलावा अवैध शस्त्र व कारतूस व घटना में इस्तेमाल दो अदद मोटरसाइकिल भी बरामद की गई है।

सीसीटीवी के माध्यम से हुआ घटना का खुलासा

एसपी ग्रामीण ने बताया कि घटना संदिग्ध मालूम होने पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी। सीसीटीवी कैमरे की मदद से छोटा हाथी चालक को खोज कर पूछताछ की गई। हालांकि उसने कुछ बनाने से इंकार करते हुए सामान्य घटना बताई। उसके फोन के रिकॉर्ड खंगालने पर घटना का पूरा सच सामने आया। जिसके बाद एक के बाद कड़ी जुड़ती गई। घटना का मास्टरमाइंड विकास यादव है। उसपर पहले से ही थाना कैंट में आपराधिक मुकदमे चल रहे है।

खबरें और भी हैं...