• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Tributes Paid To The Brave Women Including Rani Padmavati From 16 Thousand Lamps In Ayodhya, Mitra Manch Will Connect The Youth With The Glorious History Of The Country

वीर नारियों के जौहर को याद कर भावुक हुई अयोध्या:अयोध्या में 16 हजार दीपों से रानी पद्मावती सहित वीरांगनाओं को बलिदान पर दी गई श्रद्धांजलि, देश के गौरवशाली इतिहास से युवाओं को जोड़ेगा मित्रमंच

अयोध्या5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या में रानी पद्मावती के बलिदान दिवस पर दीप जलाकर कार्यक्रम आरंभ करते शरद पाठक बाबा - Dainik Bhaskar
अयोध्या में रानी पद्मावती के बलिदान दिवस पर दीप जलाकर कार्यक्रम आरंभ करते शरद पाठक बाबा

धर्म की राजधानी अयोध्या में रानी पद्मावती सहित 16000 वीरांगनाओं 16 हजार दीप जलाकर बहुत ही भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गईl इस अवसर पर कार्यक्रम की आयोजन सस्था मित्रमंच के अध्यक्ष शरद पाठक बाबा ने देश के युवाओं भारतवर्ष के गौरवशाली इतिहास से जोड़ने के लिए अनेक माध्यमों से अभियान चलाने की घोषणा कीl

रानी पद्मावती के बलिदान दिवस पर अयोध्या में दीप जलाती महिलाएं
रानी पद्मावती के बलिदान दिवस पर अयोध्या में दीप जलाती महिलाएं

देश के 15 राज्यों में और विश्व के कई आठ देशों में मना बलिदान दिवस

इस अवसर पर मित्र मंच प्रमुख शरद पाठक बाबा के निर्देश पर हिंदुस्तान के 15 राज्यों में और विश्व के आठ देशों मारीसश, थाईलैंड, नेपाल आदि में मित्र मंच के कार्यकर्ताओं द्वारा मां पद्मावती व 16 हजार वीरांगनाओं को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। गुरुवार को देर सायं हुए इस कार्यक्रम में वामन मंदिर के महंत वैदेहीवल्लभ शरण महाराज,अपना दल के वरिष्ठ नेता प्रमोद सिंह,वेद राजपाल बतौर अतिथि शामिल हुए।

26 अगस्त 1303 में आक्रांता अलाउद्दीन खिलजी की ख्नराब नीयत के विरोध में पद्मावती ने किया था जौहर

मित्र मंच प्रमुख शरद पाठक बाबा ने कहा कि विदेशी आक्रांताओं ने हिंदुस्तान की संस्कृति,इतिहास व सनातन धर्म को नष्ट करने का लगातार प्रयास किया गया था।इसी प्रकार 26 अगस्त 1303 में आक्रांता अलाउद्दीन खिलजी के द्वारा राजा रतन सिंह जी को धोखे से शहीद करने के बाद जब उसने अपनी गलत नजर मां पद्मावती पर डालने का प्रयास किया,तब मां पद्मावती ने 16000 वीरांगनाओं के साथ अपने सनातन संस्कृति व सतीत्व धर्म की रक्षा के लिए जोहर कर अपने प्राणों का बलिदान दे दिया था।ऐसी मातृशक्ति को हम नमन करते हैं।

आने वाली पीढ़ियों को गौरवशाली इतिहास की जानकारी देना चाहिए

अपना दल के वरिष्ठ नेता प्रमोद सिंह ने मां पद्मावती व 16000 वीरांगनाओं द्वारा धर्म की रक्षा के लिए किए गए जौहर का गौरवशाली इतिहास बताया।मां पद्मावती के विषय में बताया कि आज लोग जातीय सम्मेलन करते हैं,जबकि उन्हें हिंदू धर्म से संबंधित अपने पूर्वजों के बारे में,उनके द्वारा किए गए बलिदान के बारे में आने वाली पीढ़ियों को अपने गौरवशाली इतिहास के बारे में जानकारी देना चाहिए जिससे कि वे अपने ऐतिहासिक घटनाओं-संस्कृति से परिचित हो सकें।इस कार्यक्रम का लक्ष्य मां पद्मावती के शौर्य व वीरता और नारी शक्ति को नमन करते हुए हिन्दुओं को अपने गौरवशाली इतिहास से परिचय कराना था।अयोध्या में मुख्य कार्यक्रम स्थल सहित गुप्तारघाट व नयाघाट व अन्य स्थानों पर भी दीपदान कर श्रद्धंजलि अर्पित की गई।

कार्यक्रम में युवाओं व महिलाओं ने महत्वूपर्ण भूमिका निभाई

कार्यक्रम में मित्र मंच प्रदेश प्रभारी राजा पाठक,युवा मित्र मंच प्रदेश अध्यक्ष यश पाठक, प्रदेश महासचिव विजय पांडेय,प्रदेश उपाध्यक्ष शरद प्रताप सिंह,महिला मित्र मंच प्रदेश उपाध्यक्ष उपासना(काजल पाठक), अनीता सिंह , रतना जायसवाल, श्यामा शर्मा,कंचन राठौर,नीरज कुमार सिंह,डब्बू सिंह,अनुभव तिवारी,यश मिश्रा,अवनीश मिश्रा,उमंग पांडेय आदि ने अहम भूमिका निभाई।

खबरें और भी हैं...