• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Ayodhya
  • Will Leave From Maniram Cantonment On Sunday, One Hundred Saints Will Go To Celebrate Shri Ram With Bharat In A Five day Journey.Ayodhya. Chitrakoot. Maniram Chawani . Bharat Yatra.

अयोध्या से चित्रकूट रवाना होगी भरत यात्रा:रविवार को मणिराम छावनी से होगी रवाना, भरत के साथ श्रीराम को मनाने जाएंगे 100 संत

अयोध्याएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या का वाल्मीकि रामायण भवन जहां से रविवार को सुबह चित्रकूट के लिए भरत यात्रा रवाना होगी - Dainik Bhaskar
अयोध्या का वाल्मीकि रामायण भवन जहां से रविवार को सुबह चित्रकूट के लिए भरत यात्रा रवाना होगी

भगवान श्रीराम को मनाने के लिए अयोध्या के मणिराम दास जी की छावनी से 21 नवंबर को सुबह चित्रकूट के लिए भरत यात्रा रवाना होगीl श्री भरत यात्रा छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास शास्त्री के संयोजन मे वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच भरत व शत्रुहन के स्वरूप पूजन के बाद प्रस्थान करेगी जिसमें एक सौ संत-महंत शामिल रहेंगेl

48 वर्षों से धार्मिक एवं सांस्कृतिक परम्पराओं का पालन भरत यात्रा के माध्यम से
यात्रा व्यवस्थापक स्वामी विमलकृष्ण दास तथा महंत परमात्मा दास ने बताया कि विगत 48 वर्षों से धार्मिक एवं सांस्कृतिक परम्पराओं का पालन भरत यात्रा के माध्यम से श्रीराम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास अध्यक्ष मणिराम दास छावनी महंत नृत्य गोपाल दास महाराज के आशीर्वाद से होता आ रहा है।
उन्होंने बताया पिछले वर्ष कोरोना महामारी के कारण यात्रा में व्यवधान आ गया था ।इस बार 21नवंबर को यह यात्रा प्रारंभ होकर 25 नवंबर तक चलेगी।

भगवान श्रीराम के उदात्त चरित्र से सभी को प्रेरणा

महंत कमलनयन दास ने बताया कि वर्तमान में भारतीय संस्कृति एवं परम्पराओं पर सर्वत्र प्रहार हो रहा है। पारिवारिक विषमताएं चरम सीमा तक पहुँच चुकी हैl ऐसे समय भगवान श्रीराम के उदात्त चरित्र से सभी को प्रेरणा मिलती है। पारस्परिक भातृभाव, गुरुजनों का आदर, एवं मर्यादा, मानव धर्म की पूर्ण शिक्षा भगवान श्रीराम के आदर्शों से मिलती है।इसी लक्ष्य को लेकर पूज्य पाद प्रभुदत्त ब्रम्हचारी महाराज की प्रेरणा से एवं उनके द्वारा संस्थापित एवं संचालित श्री भरत यात्रा चली आ रही है।इस वर्ष की यात्रा में महंत कमलनयन दास,महंत रामशरण दास रामायणी,महंत रामगोपाल दास आदि में संत -महात्माओं का मार्गदर्शन मिलेगा। स्वामी छैलबिहारी वृन्दावन वालों की रासलीला का आनन्द भी मिलता रहेगा।

बुधवार को कामद गिरि परिक्रमा करेंगे संत

श्री मणिरामदास जी की छावनी से प्रस्थान करेगी जिसका पहला विश्राम श्री भरत हनुमान मिलन मंदिर नन्दिग्राम में होगा जहां महंत परमात्मा दास यात्रियों का स्वागत करेंगे। दूसरे दिन यह यात्रा सीताकुण्ड,सुल्तानपुर से प्रातः शनिदेव के लिए यात्रा प्रस्थान करेगी।दोपहर शनिदेव मंदिर से श्रृंगेश्वर पुर धाम रवाना होगी जहां रात्रि विश्राम होगा। अगले दिन यह यात्रा चित्रकूट पहुंचेगी जहां श्री बजरंग गोशाला,नयागांव चित्रकूट भरतयात्रा का विश्राम होगा।बुधवार को कामदगिरि परिक्रमा श्री भरत मिलाप,देव स्थानों का दर्शन कर रामघाट पर रात्रि भोजन होगा।गुरुवार को भरतकूप दर्शन,मुख्य स्थानों का दर्शन कर यात्रा अयोध्या प्रस्थान के लिए वापसी करेगी जो सुल्तानपुर होकर यहां पहुुंचेगी।

खबरें और भी हैं...