राष्ट्रीय संत मोरारी बापू अयोध्या पहुंचे:रामलला का दर्शनकर युगतुलसी की समाधि का पूजन किया ,कारसेवकपुरम में नौ दिवसीय रामकथा का उद्घाटन सत्र 27 को

अयोध्या6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अयोध्या के परिक्रमा मार्ग स्थित रामायणम आश्रम में युगतलुसी पंडित रामकिंकर उपाध्याय की समाधि  स्थली पर स्थापित उनकी मूर्ति का पूजन करने राष्ट्रीय संत मोरारी बापू - Dainik Bhaskar
अयोध्या के परिक्रमा मार्ग स्थित रामायणम आश्रम में युगतलुसी पंडित रामकिंकर उपाध्याय की समाधि स्थली पर स्थापित उनकी मूर्ति का पूजन करने राष्ट्रीय संत मोरारी बापू

राष्ट्रीय संत मोरारी बापू शुक्रवार को दोपहर अयोध्या पहुंचेl उन्होंने हनुमानगढ़ी व रामलला का दर्शन करने के बाद रामायणम आश्रम पहुंच युगतुलसी पंडित रामकिंकर उपाध्याय की रामायणम आश्रम स्थित समाधि स्थली पर स्थापित मूर्ति का पूजन कर आश्रम की अध्यक्ष व रामकथा की अन्तर्राष्ट्रीय व्याख्याता मंदाकिनी रामकिंकर से आत्मीय मुलाकात कीl

रामायणम आश्रम की अध्यक्ष मंदाकिनी रामकिंकर को प्रसाद देते राष्ट्रीय संत मोरारी बापू
रामायणम आश्रम की अध्यक्ष मंदाकिनी रामकिंकर को प्रसाद देते राष्ट्रीय संत मोरारी बापू

युगतुलसी पंडित रामकिंकर उपाध्याय से जुड़ी स्मृतियों को ताजा किया

इस दौरान मंदाकिनी रामकिंकर ने बापू का तिलक व रामनाम की पट्टिका से स्वागत कियाl बापू ने रामायणम आश्रम में करीब आधे घंटे का समय बड़े ही भावपूर्ण माहौल में बितायाl इस दौरान उन्होंने झूले पर बैठकर युगतुलसी पंडित रामकिंकर उपाध्याय से जुड़ी स्मृतियों को ताजा कियाl इस दौरान काशी के महामंडलेश्वर संतोष दास उर्फ सतुआ बाबा,मधुकरी संत मिथिला बिहारी दास,विकास मेहरोत्रा,शिक्षाविद रमेशचंद्र श्रीवास्तव आदि मौजूद रहेl मधुकरी संत मिथिला बिहारी दास ने बापू को भजन सुनायाl

अयोध्या के रामायणम आश्रम पहुंच अतीत की स्मृतियों में खो गए बापू
अयोध्या के रामायणम आश्रम पहुंच अतीत की स्मृतियों में खो गए बापू

नौ दिवसीय श्रीरामकथा की शुरुआत अयोध्या के कारसेवकपुरम से 27 नवंबर को
भगवान राम के वन गमन मार्ग में पढ़ने वाले तीर्थ स्थलो पर बापू श्रीराम कथा की शुरुआत अयोध्या के कारसेवक पुरम से 27 नवंबर को शाम चार बजे करेंगे। पांच दिसम्बर को नंदीग्राम में उनकी रामकथा का समापन होगा।नौ दिवसीय रामकथा अयोध्या, पिपरी गोरेया,श्रृंगवेरपुर प्रयागराज,संगम तट प्रयागराज, लालापुर चित्रकूट और पुनः अयोध्या, नंदीग्राम में होगी। इस दौरान प्रत्येक दिन अलग-अलग तीर्थ स्थलों पर बापू रामकथा कहेंगे। 27 और 28 नवंबर को अयोध्या के कारसेवक पुरम में उनकी राम कथा होगी।

5 दिसंबर को अयोध्या के नंदीग्राम में आखिरी सत्र की कथा मुरारी बापू कहेंगे

वे 29 नवंबर को पिपरी गौरैया मैदान में , 30 नवंबर को श्रृंगवेरपुर प्रयागराज ,1दिसंबर को संगम तट प्रयागराज, 2 दिसंबर को बाल्मीकि आश्रम लालापुर चित्रकूट ,3 दिसंबर को सुरेंद्र पाल स्कूल परिसर चित्रकूट तथा 4 दिसंबर को कारसेवकपुरम में पुनः राम कथा कहेंगे। 5 दिसंबर को अयोध्या के नंदीग्राम में आखिरी सत्र की कथा मुरारी बापू कहेंगेl

खबरें और भी हैं...