बूढ़नपुर की पौधशाला में नर्सरी तैयार:नए नए शोध से तैयार किये जा रहे अच्छे किस्म के फलदार छायादार पौधे, किसानों को दी जा रही जानकारी

बूढ़नपुर13 दिन पहले

बुढ़नपुर स्थित पौधशाला पर नए नए किस्म के पौधे इस समय उगाये जा रहे हैं। जिसमें आम, नींबू, अमरूद, पपीता, शरीफा, बेल, अनार, आंवला, जामुन, नीम, शीशम, सागौन आदि पेड़ों की नर्सरी लगाई जा रही है। अच्छे किस्म की खाद पानी देकर नर्सरी पेड़ों को बढ़ाया जा रहा है। उसमें कुछ फलदार हैं तो कुछ पेड़ छायादार हैं।

5 साल के अंदर देते हैं फल
ये सारी जानकारी वन विभाग के श्याम लाल यादव ने दी। उन्होंने बताया कि लोग बिना नर्सरी से शोधित बीज पेड़ को अपने घर ले जाकर लगाते हैं, वह पेड़ सूख जाते हैं। लोग अच्छे किस्म की छाया और अच्छी किस्म के बीज नहीं दे पाते, लेकिन जो नर्सरी द्वारा पौधे पैदा किए जाते हैं, वह अच्छे किस्म के होते हैं। जिससे लोग अच्छे फल को प्राप्त कर सकते हैं। अच्छी छाया प्राप्त कर सकते हैं। ज्यादा से ज्यादा पौधे नर्सरी में लगाए जा रहे हैं। आम के पौधे ऐसे भी हैं, जो 5 साल के अंदर ही फल देना शुरू कर देते हैं।

कुछ पेड़ों की कीमतें अच्छी
बताया कि आंवला बहुत ही उपयोगी है। जिसमें फल अच्छे आते हैं। वहीं नींबू है, जो अच्छी प्रजाति का है। छायादार में जो नीम है और शीशम का पेड़ है, वे बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। ये महंगे दामों में बड़े होकर बिकते हैं और इनकी कीमत भी अच्छी होती है। वहीं अच्छे किस्म के अमरुद हैं, जिसमें इलाहाबादी अमरूद भी हैं। जिनकी नर्सरी हमारे यहां तैयार की जा रही है।

बताया कि उनके यहां नर्सरी से हर समय रिसर्च किए हुए पौधे मिल सकते हैं। इसमें किसी भी प्रकार की किसी को परेशानी नहीं होती है। नर्सरी से पौधा देने के बाद उनके रखरखाव के बारे में भी लोगों को जानकारी दी जाती है।

खबरें और भी हैं...