आजमगढ़ में 50 हजार का इनामी मुठभेड़ में गिरफ्तार:लेखपाल दंपति हत्याकांड का मुख्य आरोपी है पंकज यादव

आजमगढ़5 महीने पहले

आजमगढ़ में 29 नवंबर 2021 को लेखपाल दंपति की फावड़े से गला काटकर हत्या की गई थी। हत्या का मुख्य आरोपी गुरुवार सुबह पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार हुआ। उस पर पर 50 हजार का ईनाम घोषित था। पुलिस ने आरोपी के पास से पिस्टल और बाइक बरामद की है।

आजमगढ़ जिले में 50 हजार के इनामी पंकज यादव को पुलिस ने मुठभेड़ में किया गिरफ्तार, जानकारी देते जिले के SP अनुराग आर्य।
आजमगढ़ जिले में 50 हजार के इनामी पंकज यादव को पुलिस ने मुठभेड़ में किया गिरफ्तार, जानकारी देते जिले के SP अनुराग आर्य।

SP अनुराग आर्य ने बताया कि तरवां के पित्थौरपुर में लेखपाल दंपति की हत्या की गई थी। डबल मर्डर मामले में मृतक की पुत्र वधु सहित सात आरोपियों को 11 दिसंबर को गिरफ्तार कर लिया गया था। मुख्य आरोपी पंकज यादव फरार था। आरोपी पंकज यादव पर पहले 25 हजार का ईनाम घोषित किया गया, इसे बाद में बढ़ाकर 50 हजार कर दिया गया।

आजमगढ़ जिले के डबल मर्डर में वांछित 50 हजार के इनामी पंकज यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार।
आजमगढ़ जिले के डबल मर्डर में वांछित 50 हजार के इनामी पंकज यादव को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

शरणदाताओं पर कार्रवाई की जाएगी

तरवां थाना क्षेत्र में पुलिस ने चेकिंग के दौरान जब पंकज को रोकने का प्रयास किया तो उसने पुलिस पर फायर झोंक दिया। जवाबी फायरिंग में बदमाश घायल हो गया, जिसे जिला अस्पताल में लाकर इलाज कराया जा रहा है। SP का कहना है कि मामले का मुख्य आरोपी पंकज यादव ही था। इतने दिन फरार रहने पर वह किन लोगों से मिला, उन्हें भी चिह्नित किया जा रहा है। शरणदाताओं पर कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही मामले में बचे एक आरोपी को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बहू ने कराई थी सास-ससुर की हत्या
जिले के तरवां थाना क्षेत्र में 29 नवम्बर को फावड़े से काटकर हुई इस हत्या से सनसनी फैल गई थी। पुलिस की विवेचना में जो तथ्य सामने आए उसमें मृतक लेखपाल दंपति की बहू ज्योति के अवैध संबंध पंकज यादव से थे। ज्योति सास-ससुर की हत्या कराकर अपने पति को नौकरी दिलाना चाहती थी, और बाद में पति की भी हत्या कराकर पंकज यादव के साथ जीवनयापन करना चाहती थी। जिले के SP अनुराग आर्य ने छह एंगल पर काम करते हुए इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी सहित आठ लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।