दिनेश लाल यादव निरहुआ का इंटरव्यू:कहा-अखिलेश तीन साल तक आजमगढ़ में झांकने नहीं आए, इस बार भाजपा जीतेगी

आजमगढ़3 महीने पहलेलेखक: अजय कुमार मिश्र

आजमगढ़ लोकसभा सीट पर 23 जून को हुए मतदान के बाद प्रत्याशियों को रिजल्ट का इंतजार है। 26 जून को नतीजे आएंगे। भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव ने शनिवार को दैनिक भास्कर से बात की। इस दौरान कहा कि इस बार के उपचुनाव में जनता भाजपा प्रत्याशी के रूप में मुझे जिताने जा रही है। 2019 के लोकसभा चुनाव में हार गए थे। लेकिन, पब्लिक के बीच सक्रिय रहे। इस बार इसका फायदा मिल रहा है। आगे पढ़िए उन्होंने और क्या-क्या कहा...

सवाल : मतदान हो गया, लड़ाई कहां देखते हैं?

जवाब: लड़ाई तो कांटे की है। 2019 के लोकसभा चुनाव में जब मैं लड़ा था तो अखिलेश यादव सपा-बसपा के गठबंधन के तहत चुनाव लड़े थे। तब मुझे तीन लाख 62 हजार वोट मिले थे। अब वह लोग अलग-अलग लड़ रहे हैं। इसलिए लड़ाई अब त्रिकोणीय हो गई। इस बार हम लोगों को फायदा ये हुआ कि तीन साल अखिलेश यादव यहां कुछ नहीं किए और जनता को उनके हाल पर छोड़कर चले गए। इस बार हम लोगों ने जनता से एक मौका मांगा है, उनसे बोला है कि अगर डेढ़ साल में समझ में नहीं आएगा तो हमें बदल दीजिएगा।

ये तस्वीर 24 जून की है। आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के बाद भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने अपने लोगों के साथ भाजपा कार्यालय में बैठक की।
ये तस्वीर 24 जून की है। आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के बाद भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने अपने लोगों के साथ भाजपा कार्यालय में बैठक की।

सवाल: सपा के गढ़ में कैसे दे पाएंगे चुनौती?

जवाब: देखिए इस बार कोई चुनौती नहीं है। 2019 को लोकसभा चुनाव हार कर भी हम यहां की जनता के संपर्क में बने रहे। जबकि अखिलेश यादव चुनाव जीत कर भी यहां कभी झांकने तक नहीं आए। कोरोना काल में हमारे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आजमगढ़ जिले की जनता का हालचाल लेने तीन बार आए पर अखिलेश यादव ने यहां के लोगों की सुधि लेना भी जरूरी नहीं समझा। जिले की जनता को तीन साल में दो बार अखिलेश यादव के लापता होने के पोस्टर भी लगाने पड़े।

सवाल: सपा के लोगों का कहना है कि इटावा दिल तो आजमगढ़ धड़कन?

जवाब: भाजपा नेता दिनेश लाल यादव निरहुआ का कहना है कि कभी दिल और धड़कन, कभी जज्बाती रिश्तों के नाम पर जिले की जनता को छला गया है। अब जिले की जनता सपा के झांसे में नहीं आने वाली है। इस बार जिले की जनता विकास की तरफ आशाभरी नजरों से देख रही है। और निश्चित रूप से चुनाव परिणाम भाजपा के पक्ष में आएगा और कमल खिल रहा है। निरहुआ ने सवाल करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति अपनी धड़कन के बिना जिंदा रह सकता है क्या।

ये फोटो आजमगढ़ चुनाव प्रचार की है। भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने इस तस्वीर को 24 जून को अपने ट्विटर एकाउंट से शेयर किया था।
ये फोटो आजमगढ़ चुनाव प्रचार की है। भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ ने इस तस्वीर को 24 जून को अपने ट्विटर एकाउंट से शेयर किया था।

सवाल: अपनी जीत को लेकर कितना आश्वस्त हैं?

जवाब: भाजपा प्रत्याशी का कहना है कि जीत का सबसे बड़ा कारण सरकार की योजनाएं हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीबों को दिए जा रहे राशन का फायदा इस बार भाजपा को मिलेगा और जीत का सबसे बड़ा कारण बनेगा।

सवाल: चुनाव के बाद कितना बदला रूटीन?

जवाब: रूटीन में बहुत ज्यादा परिवर्तन इसलिए नहीं हुआ क्योंकि हम फिल्मों की शूटिंग करते हैं। सुबह निकल जाते हैं और देर रात आते हैं। फिल्मों में भी यही रूटीन रहता है और चुनाव में भी सुबह से ही निकल जाता था और देर रात आता था। इस दौरान लोगों से मिल-जुलकर उनसे भाजपा के साथ जुड़ने के लिए प्रेरित करता था।

ये तस्वीर भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ के चुनाव प्रचार के समय की है। निरहुआ ने घर-घर जाकर लोगों से वोट मांगा था।
ये तस्वीर भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ के चुनाव प्रचार के समय की है। निरहुआ ने घर-घर जाकर लोगों से वोट मांगा था।

सवाल: चुनाव परिणाम को लेकर कितने चिंतित हैं?

जवाब: हमारे हाथ में सिर्फ कर्म है। उसका फल क्या होगा, वह भगवान के हाथ में हैं। वह अपने हाथ में है नहीं तो उसकी चिंता क्या करना है। फिल्मों में भी वहीं करते हैं और यहां चुनाव के दौरान भी यही किया।

खबरें और भी हैं...