आजमगढ़ में बसपा ने सम्मेलन के बहाने भरी हुंकार:रोजगार मांगने पर जनता को अपमानित कर रही भाजपा,  बसपा ने चलाया कानून का राज

आजमगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में आयोजित बसपा के सम्मेलन में शामिल बसपा के वरिष्ठ नेताओं ने दी सभी को एकजुट होने की सलाह। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले में आयोजित बसपा के सम्मेलन में शामिल बसपा के वरिष्ठ नेताओं ने दी सभी को एकजुट होने की सलाह।

आजमगढ़ में बसपा ने एक दिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन के बहाने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि रहे समसुद्दीन ने कहा कि जिस तरफ नौजवान चलता है सरकारी उसी की बनती है। आज हर जाति वर्ग के नौजवान बसपा की सरकार बनाने को ठान लिया। आज किसान मजदूर छात्र के साथ पूरा समाज बसपा के साथ खड़ा है। बसपा सरकार ने प्रदेश में कानून का राज चलाया था।

नहीं आना किसी धोखे में
बसपा नेता समसुद्दीन ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश व केन्द्र में सरकार बनाई। पर जब जनता ने उनके वादे के रोजगार मांगा तो जनता को अपमानित किया गया। उन्नाव और हाथरस का कांड भाजपा की मंशा को साबित करने के लिए ही अधिक है। सपा-भाजपा अपने शासन कॉल में कमजोर और गरीब को शक्तिहीन करने का काम करते हैं। हमें किसी के धोखे में आने की जरूरत नहीं है। कार्यक्रम में उपस्थित बड़ी संख्या में बसपा के नेताओं ने कहा कि मायावती सरकार के कार्यकाल को प्रदेश की जनता ने देखा है कि किस तरह से गुंडे-माफियाओं पर कार्रवाई करती थी। ऐसे में हम सभी को अभी से एकजुट हो जाने की जरूरत है।

जिले में लड़खड़ा रही बसपा
2017 के विधानसभा की यदि बात करें तो 4 विधायक बसपा के सिंबल से चुनाव जीते थे। जिसमें बसपा के दीदारगंज से विधायक सुखदेव राजभर की हाल ही में मौत हो गई, जबकि सगड़ी सीट से बसपा विधायक रही वंदना सिंह ने भाजपा का दामन थाम लिया। जिले की मुबारकपुर विधानसभा से विधायक शाह आलम उर्फ गुड्‌डू जमाली ने हाल ही में बसपा से इस्तीफा दे दिया। हालांकि गुड्‌डू जमाली ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं, वहीं लालगंज विधानसभा से एक मात्र आजाद अरिमर्दन सिंह विधायक हैं। ऐसे में जिले में बसपा लड़खड़ाती नजर आ रही है।

खबरें और भी हैं...