आजमगढ़...SP के निरीक्षण में सोते मिले सिपाही निलंबित:दोनों सिपाहियों के विरूद्ध जांच के आदेश, ड्यूटी में लापरवाही बरतने का आरोप

आजमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में लापरवाह पुलिस कर्मियों पर लगातार कार्रवाई कर रहे जिले के SP अनुराग आर्य, लापरवाही बरतने पर दो सिपाही निलंबित। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले में लापरवाह पुलिस कर्मियों पर लगातार कार्रवाई कर रहे जिले के SP अनुराग आर्य, लापरवाही बरतने पर दो सिपाही निलंबित।

आजमगढ़ जिले के SP अनुराग आर्य के निरीक्षण में दो सिपाही ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोपी पाए गए। इन दोनो सिपाहियों को निलंबित करने के साथ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं। सिपाहियों के निलंबन के आदेश के बाद महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। एक दिन पूर्व ही दो इंस्पेक्टरों के विरूद्ध् भी ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में विभागीय जांच के आदेश दिए थे।

ड्यूटी में लापरवाही का आरोप
जिले के SP अनुराग आर्य ने देर रात्रि डायल 112 की हकीकत जानने जब सड़क पर उतरे तो यह मामला सामने आया। डायल 112 में तैनात आरक्षी रंजीत कुमार व श्याम प्रकाश यादव की रात्रि चेकिंग की ड्यूटी थी। रात्रि 1:17 बजे दो पहिया पीआरवी जिले के रामायण पेट्रोल पम्प पर खड़ी कर दोनो सिपाही पेट्रोल पम्प के केबिन में सोते पाए गए। यह सिपाहियों के कर्त्वयों के प्रति घोर लापरवाही को दर्शाता है। इसके साथ ही श्याम प्रकाश यादव की ड्यूटी के दौरान ड्यूटी स्थल से 100 मीटर की दूरी पर चोरी हो गई, इस मामले में भी लापरवाही पाई गई। इस कारण दोनो सिपाहियों को निलंबित करने के साथ विभागीय जांच के आदेश दे दिए।

एक दिन पूर्व ही दो इंस्पेक्टरों के विरूद्ध दिया था जांच के आदेश
जिले के SP अनुराग आर्य ने 6 दिसम्बर को दो थाना प्रभारियों के विरूद्ध जांच के आदेश दिए हैं। इन दोनों थाना प्रभारियों पर अपने दायित्वों के प्रति घोर लापरवाही बरतने का आरोप है। इंस्पेक्टर बरदह रूद्रभान पाण्डेय पर एक माह पूर्व हुए लूट का खुलासा अभी तक न कर पाने का आरोप है, जबकि जहानागंज के इंस्पेक्टर गजानन्द चौबे पर भी 4 दिसम्बर को हुई लूट का खुलासा अभी तक न कर पाने का आरोप है। इससे पूर्व 21 नवमबर को पवई थाने में तैनात दरोगा बेंचूलाल को निलंबित किया जा चुकी है। बेंचूलाल के खिलाफ मकान-मालिक ने शिकायत की थी, जब किराया मांगा जाता है तो गाली-गलौच करते हैं, और धमकाते हैं। इसी आधार पर बेंचूलाल को निलंबित कर दिया गया। वहीं 27 नवम्बर को जीयनपुर थाने में तैनात सिपाही परितोष कुमार पर एक महिला को भगाने का आरोप लगा था। मामले की जांच में सिपाही की संलिप्तता पाई गई, जिसके आधार पर सिपाही को निलंबित किया था।

खबरें और भी हैं...