आजमगढ़ में डायरिया से 2 की मौत:जिले में मरीजों की संख्या हुई 237, अस्पताल के चबूतरे पर हो रहा इलाज, DM ने शुरू कराई पानी की सैंपलिंग

आजमगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुबारकपुर में डायरिया से संक्रमित बच्चों का कुछ इस तरह से हो रहा इलाज। - Dainik Bhaskar
मुबारकपुर में डायरिया से संक्रमित बच्चों का कुछ इस तरह से हो रहा इलाज।

आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर में गंदा पानी पीने से फैले डायरिया से बुधवार तक 237 लोग बीमार हो चुके हैं। साथ ही बलुआ कस्बे में एक ही परिवार के 2 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

DM राजेश कुमार अब तक दो बार मुबारकपुर का दौरा कर अधिकारियों को निर्देश दे चुके हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी घर-घर जाकर पानी की सैंपलिंग कर रहे हैं।

डायरिया से 237 लोग बीमार

जिले में मरीजों की कुल संख्या 237 है। जिसमें से 40 मरीजों का इलाज मुबारकपुर के अस्पताल में हो रहा है, जबकि 120 को रेफर किया गया है। 72 मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है। हालांकि मुबारकपुर में हुई दो मौतों की पुष्टि जिला प्रशासन ने नहीं की है। लेकिन मृतक के बेटे अख्तर ने अपने पिता जहीजरुद्दीन सिद्दीकी (60) व दादा केदारनाथ सक्सेना (90) के मरने की पुष्टि की। इसके साथ ही स्थानीय विधायक शाह आलम उर्फ गुड्‌डू जमाली ने भी 2 लोगों के मौत की पुष्टि की है।

आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर में अस्पताल परिसर में कुछ इस तरह हो रहा मरीजों का इलाज।
आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर में अस्पताल परिसर में कुछ इस तरह हो रहा मरीजों का इलाज।

बेड फुल, अस्पताल के चबूतरे पर हो रहा इलाज
मुबारकपुर अस्पताल के सभी बेड फुल हो चुके हैं। बड़ी संख्या में मरीजों का इलाज अस्पताल के बाहर चारपाई व अस्पताल के चबूतरे पर किया जा रहा है।

विधायक लगातार कर रहे दौरा

मुबारकपुर में डायरिया फैलने की सूचना सबसे पहले क्षेत्रीय विधायक शाह आलम गुड्‌डू जमाली को मिली। जिसके बाद उन्होंने प्रशासन को अवगत कराया। दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का सहयोग मिल रहा है। विधायक ने कहा कि अगर प्रशासन इन इलाकों में पाइप लाइन नहीं बदल रहा, तो हम इसे बदलवाने का काम करेंगे।

मुबारकपुर में डायरिया प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करते क्षेत्रीय विधायक शाह आलम उर्फ गुड्‌डू जमाली।
मुबारकपुर में डायरिया प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करते क्षेत्रीय विधायक शाह आलम उर्फ गुड्‌डू जमाली।

पहले भी फैल चुका है संक्रमण
जिले के मुबारकपुर में डायरिया फैलने का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले 2015 में भी संक्रमण फैला था। 2019 में फैले संक्रमण में 6 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। उस समय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने मुबारकपुर में रोज पानी के सैंपलिंग की व्यवस्था की थी। लेकिन धीरे-धीरे यह व्यवस्था बंद हो गई। जिससे एक बार फिर संक्रमण फैल गया।

स्वास्थ्य विभाग ने बनाई टीम
दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए जिले के CMO इंद्र नारायन तिवारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग ने टीम बना दी है। जो भी गंभीर मरीज हैं उन्हें रेफर किया जा रहा है। CMO का कहना है कि स्ट्रेचर व एम्बुलेंस की व्यवस्था करने के साथ सभी घरों में मिनरल वाटर कैन भी भेजा जा रहा है। इसके साथ ही ORS के पैकेट व दवाइयों का वितरण भी किया जा रहा है, जिससे जल्द से जल्द हालात सुधारे जा सकें।

खबरें और भी हैं...