आजमगढ़ DM ने की जल जीवन मिशन की समीक्षा:कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर को कारण बताओ नोटिस, फील्ड टेस्टिंग में भी लापरवाही

आजमगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में जल जीवन मिशन और स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते जिले के डीएम विशाल भारद्वाज। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले में जल जीवन मिशन और स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते जिले के डीएम विशाल भारद्वाज।

आजमगढ़ के डीएम विशाल भारद्वाज ने कलेक्ट्रेट सभागार में जल जीवन मिशन की समीक्षा बैठक की। इस समीक्षा बैठक में कार्यरत कार्यदायी एजेंसी एलसी इंफ्रा और जीए इंफ्रा के कार्यों की समीक्षा की गई। भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना जल जीवन मिशन का उद्देश्य हर घर को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराना है। इसके तहत एलसी इंफ्रा को द्वितीय फेस में 250 वॉटर सप्लाई स्कीम पर कार्य करना था, जिसमें उनके द्वारा मात्र 180 स्कीमों पर कार्य प्रारंभ किया गया है। समीक्षा के दौरान एफएचटीसी की प्रगति संतोषजनक नहीं पाये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएम ने अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देशित किया गया कि कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर को कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर संचारी रोग और पल्स पोलियाे अभियान को लेकर भी बैठक की।

फील्ड टेस्टिंग में भी सामने आई लापरवाही
जिले के डीएम विशाल भारद्वाज ने जिले में चल रहे फील्ड टेस्ट की ट्रेनिंग के कार्यों की समीक्षा की। इसके अन्तर्गत जनपद में 18910 महिलाओं को प्रशिक्षण देना था, जिसके सापेक्ष मात्र 9078 महिलाएं ही प्रशिक्षित हुई हैं। जिस पर डीएम ने अधिशासी अभियंता को निर्देशित किया कि जनपद में चल रहे समस्त कार्यों की समीक्षा आपके माध्यम से किया जाए एवं कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिले में जल जीवन मिशन की जागरूकता हेतु प्रचार-प्रसार के लिए आईएसए एजेंसी का चयन किया गया है। अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देशित किया कि एजेन्सी के कार्यां की मॉनिटरिंग करते हुए कार्यों को समय से पूर्ण करायें।

खबरें और भी हैं...