धर्मांतरण का केन्द्र बन रहा हैं आजमगढ़:एक माह में तीन मामलों का हुआ खुलासा, भूत-प्रेत बाधा व पैसे का दिया जा रहा लालच, पुलिस ने किया गिरफ्तार

आजमगढ9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले के जोधीपुरा मोहल्ले में धर्मांतरण के आरोपी गाजीपुर निवासी नन्दू सिंह व उसकी पत्नी को पुलिस ने किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले के जोधीपुरा मोहल्ले में धर्मांतरण के आरोपी गाजीपुर निवासी नन्दू सिंह व उसकी पत्नी को पुलिस ने किया गिरफ्तार।

अखिलेश यादव का संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ धर्मांतरण का केंद्र बनता नजर आ रहा है। 31 अगस्त से 3 सितम्बर तक धर्मांतरण के तीन मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि पुलिस ने धर्मांतरण कराने के आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। पर जिले में जिस तरह से लगातार धर्मांतरण की बातें सामने आ रही हैं। यह अच्छे संकेत नहीं हैं। जिले के शहर कोतवाली के जोधी का पूरा मोहल्ले में भूत-प्रेत की बाधा को दूर करने का लालच देकर धर्मांतरण करने के आरोप में पुलिस ने पति-पत्नी को गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने मौके से धार्मिक पुस्तकों के साथ पति और पत्नी को हिरासत मे लेकर पूछताछ कर ही है।

आजमगढ़ जिले के जोधीपुरा में धर्मांतरण की जानकारी होने के बाद पहुंचे विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारी व पुलिस।
आजमगढ़ जिले के जोधीपुरा में धर्मांतरण की जानकारी होने के बाद पहुंचे विश्व हिन्दू परिषद के पदाधिकारी व पुलिस।

भूत-प्रेत का लालच देकर जाल में फंसाते हैं

धर्मांतरण की घटना के बारे में विश्व हिन्दू परिषद के महामंत्री गौरव सिंह ने बताया कि लगातार जिले में धर्मांतरण की घटनाएं खुल कर सामने आ रही हैं। इससे पहले ही दो घटनाएं हो चुकी हैं, इसके बावजूद प्रशासन इन घटनाओं को रोक नहीं पा रहा है। जिले में 31 अगस्त को करतालपुर क्षेत्र में धर्मांतरण करने वाले वाराणसी निवासी रामचन्द्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा। जबकि 7 सितम्बर को जीयनपुर थाना क्षेत्र के मिश्रपुर में पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के रहने वाले राजू व उनके सहयोगी प्रदीप कुमार को ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार व धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

क्या कहती है पुलिस
इस बारे में कोतवाली के इंस्पेक्टर केके गुप्ता ने बताया कि शहर कोतवाली के जोधी का पुरा मोहल्ले में रहने वाले बहादुर मौर्या के घर में धर्मांतरण को लेकर कुछ लोगों ने आज इसकी वीडियो तैयार करने के बाद उन्होंने संगठन के सदस्यों को भेजा। मौके पर करीब दो दर्जन लोग मौजूद थे। पुलिस ने मौके से बाइबिल ग्रन्थ सहित अन्य सामाग्री को कब्जे में लिया।

पति और पत्नी को हिरासत में लेकर कोतवाली आयी। हिरासत में लिये गए आरोपियों मे नन्दू सिंह और उसकी पत्नी सविता सिहं निवासीगण उमरपुर थाना नोनहरा जिला गाजीपुर के रहने वाले बताए गए हैं। इंस्पेक्टर का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। और यह भी पता कराया जा रहा है कि और कौन-कौन लोग इस घटना में शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...