आजमगढ़ माफिया मुख्तार अंसारी की हुई ऑनलाइन पेशी:जज ने अनुपस्थित इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर पेश करने का दिया निर्देश, दो अगस्त को है पेशी

आजमगढ़4 महीने पहले
आजमगढ़ एमपी एमएलए कोर्ट में हुई माफिया मुख्तार की पेशी, पेशी पर न पेश होने वाले इस्पेक्टर को गिरफ्तार कर पेश करने का निर्देश।

आजमगढ़ जिले की एमपी एमएलए कोर्ट में यूपी की बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की ऑनलाइन पेशी हुई। अन्य आरोपियों की भी मामले में पेशी हुई। 2014 में जिले के तरवां में एक मजदूर की हत्या के मामले में मुख्तार अंसारी समेत 11 के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें बाद में गैंगस्टर में भी मुकदमा दर्ज किया गया। इस मामले में अगली तारीख दो अगस्त को तय की गई है। मुख्तार अंसारी के मामले में गवाह के रूप में इससे पहले की पेशी में इंस्पेक्टर अनिल तिवारी उपस्थित हुए थे। इस बार गवाह के रूप में अनुपस्थित रहे। ऐसे में जज ओम प्रकाश वर्मा तृतीय, ने वारंट जारी करते हुए गिरफ्तार कर अगली पेशी में पेश करने का निर्देश दिया है।

आजमगढ़ जिले में एमपीएलए कोर्ट ने मुख्तार अंसारी के मामले में कोर्ट ने पेश होने वाले इंस्पेक्टर के लिए जारी किया गिरफ्तारी वारंट।
आजमगढ़ जिले में एमपीएलए कोर्ट ने मुख्तार अंसारी के मामले में कोर्ट ने पेश होने वाले इंस्पेक्टर के लिए जारी किया गिरफ्तारी वारंट।

दो मुकदमें में हुई सुनवाई
अभियोजन अधिवक्ता लाल बहादुर सिंह ने बताया कि आज मुख्तार अंसारी के दो मुकदमों की पेशी एमपीएमएलए कोर्ट के सामने पेश हुए। एक मामला तरवां थाना क्षेत्र में हत्या का था तो दूसरा गैंगेस्टर का था। 302 के मुकदमें में इंस्पेक्टर गवाह के रूप में उपस्थित पहले की पेशी में उपस्थित रहे। आज इंस्पेक्टर अनुपस्थित रहे। ऐसे में जज ने इंस्पेक्टर को बतौर वारंट गिरफ्तार कर उन्हें न्यायालय में पेश किया जाय। दूसरा मुकदमा गैंगेस्टर एक्ट में था। इसमें आरोप तय होना था। इस मामले में पहले वकीलों ने कुछ लोगों ने न आने की बात कही तो जज ने जेल भेजने की बात कही तो इन लोगों ने एक घंटे में सभी को बुला लिया। वहीं इस मामले में तरवां थाना क्षेत्र के उस समय के इंस्पेक्टर को बुलाया गया है। अगली दो अगस्त की तारीख पर इंस्पेक्टर हाजिर होंगे। 6 फरवरी 2014 को तरवां थाना क्षेत्र के एराकला में मजदूर की हत्या के मुकदमें में मुख्तार अंसारी जेल में बंद हैं। इसी मुकदमें के आधार पर बाद में अक्टूबर 2020 में गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्यवाही की गई। इस मुकदमें में आरोप तय होने की कार्रवाई होनी है। वहीं गैंगस्टर के मामले में कोर्ट ने मुख्तार अंसारी समेत 9 लोग राजन पासी, श्याम बाबू पासी, राजेंद्र पासी उर्फ भूसी, सोहन पासी, हरकेश यादव, राजेंद्र सिंह उर्फ राजन, उमेश सिंह व पंकज यादव पर आरोप निर्मित/बना है। अब इस मामले में गवाहों को लेकर सुनवाई 2 अगस्त को होगी

खबरें और भी हैं...