आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव की तैयारियां पूरी:पोलिंग बूथों पर पहुंची पार्टियां, 171 कर्मचारियों ने जिला प्रशासन को दिखाया ठेंगा, फोन किया ऑफ, DM बोले होगी विभागीय कार्रवाई

आजमगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में हो रहे लोकसभा उपचुनाव में लगे 171 कर्मचारी फोन ऑफ कर हुए नदारद, डीएम बोले होगी विभागीय कार्रवाई। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले में हो रहे लोकसभा उपचुनाव में लगे 171 कर्मचारी फोन ऑफ कर हुए नदारद, डीएम बोले होगी विभागीय कार्रवाई।

आजमगढ़ जिला प्रशासन ने लोकसभा उपचुनाव की तैयारियां पूरी कर ली हैं। लोकसभा उपचुनाव के लिए जिले को सेक्टर और जोन में बांटा गया है। सदर लोकसभा के अन्तर्गत पांच विधानसभा सीटें मेंहनगर, सदर, मुबारकपुर, सगड़ी और गोपालपुर की सीट आ रही है। ऐसे में जिला प्रशासन ने इसके लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए तीन और कुल मिलाकर 15 जोनल मजिस्ट्रेट बनाया है। यदि सेक्टर मजिस्ट्रेट की बात की जाय तो यह संख्या 137 है। जिले में यदि कुल बूथों की संख्या की बात की जाय तो यह 2176 है। इसके लिए इतनी ही पोलिंग पार्टियां भी बनाई गई हैं, जिन्हें सुबह से ही जिले में बनाए गए तीन स्थानों से रवाना किया गया। यह सभी पोलिंग पार्टियां अपने-अपने निर्धारित स्थलों पर देर शाम पहुंच गई। इस बात की पुष्टि जिला प्रशासन ने की। अनुपस्थित कर्मचारियों के सवाल पर जिले के डीएम विशाल भारद्वाज का कहना है कि इनके विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

171 कर्मचारियों ने दिखाया जिला प्रशासन को ठेंगा
जिला प्रशासन ने भले ही लगातार मतदान कार्य में शामिल होने वाले लोगों को प्रशिक्षित किया। इसके बाद भी लोकसभा उपचुनाव में 171 कर्मचारी ऐसे पाए गए जो बिना किसी पूर्व सूचना के अनुपस्थित थे। इन कर्मचारियों को जब निर्वाचन आयोग के कंट्रोल रूम से फोन किया गया तो या तो इन लोगों ने अपना फोन नहीं उठाया और या तो इनका फोन ऑफ पाया गया। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह कर्मचारी कितने निरंकुश हो गए हैं।

अनुपस्थित कर्मचारियों के विरूद्ध होगी विभागीय कार्रवाई
दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए जिले के डीएम विशाल भारद्वाज ने कहा कि जो भी 171 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए हैं। इन सभी कर्मचारियों के विभागाध्यक्षों को नोटिस दी जा रही है। इन सभी कर्मचारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...