आजमगढ़ सिलेंडर ब्लास्ट में हुई तीसरी मौत:वाराणसी में हुई मौत, गंभीर घायलों को किया गया था वाराणसी रेफर, 4 अब भी गंभीर

आजमगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ के निजामाबाद में सिलेंडर ब्लास्ट के 6 घायलों को चल रहा आजमगढ़ जिला अस्पताल में इलाज। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ के निजामाबाद में सिलेंडर ब्लास्ट के 6 घायलों को चल रहा आजमगढ़ जिला अस्पताल में इलाज।

आजमगढ़ के निजामाबाद के डोडोपुर गांव में 24 सितम्बर को रसोई गैस सिलेंडर फटने से घायल 11 गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इन घायलों में 5 की हालत काफी गंभीर थी। जिन्हें वाराणसी रेफर कर दिया गया था। गंभीर घायलों में से अब तक 3 की मौत हो चुकी है, जबकि 4 घायल जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं। वाराणसी में इलाज के दौरान एक और युवक ने दम तोड़ दिया था। बच्चे की मौत से बेचू के परिवार का इकलौता चिराग बुझ गया,खबर मिलते ही गांव में कोहराम मच गया।

डोडोपुर गांव निवासी लालमन पुत्र हदीस की बहू जास्मीन 24 सितम्बर की शाम लगभग छह बजे घर में खाना बना रही थी। गैस रिसाव के चलते अचानक आग लग गई। जिससे घर में रखा सिलेंडर फट जाने से लालमन के मकान के एक मंजिला मकान की छत उड़ गई और मकान ध्वस्त हो गया था। अब तक इस हादसे में 45 वर्षीय मैसर, 30 वर्षीय हाकुर व 15 वर्षीय सैफ की मौत हो चुकी है।

24 सितम्बर को हुआ था हादसा
24 सितम्बर की देर शाम जिले के निजामाबाद के डोडोपुर गांव में रसोई गैस पर खाना बनाते समय आग लग गई। इस आग को बुझाने के चक्कर में सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। सिलेंडर ब्लास्ट के बाद 11 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को आजमगढ़ के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इस हादसे में 7 लोग 100 प्रतिशत तक जल गए थे, जबकि 3 घायल 30 प्रतिशत तक जले थे और एक मामूली रूप से घायल हुआ था। गंभीर रूप से घायलों को वाराणसी रेफर किया गया था, जहां अब तक 3 की मौत हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...