आजमगढ़ फाइनल राउंड की स्क्रूटनी के बाद बढ़ा मतदान प्रतिशत:49.48 प्रतिशत हुआ जिले में मतदान, मुबारकपुर विधानसभा रही अव्वल तो मेंहनगर फिसड्डी

आजमगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले के एक बूथ पर 23 जून को मतदान के दिन मतदाताओं की लगी लंबी कतार। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले के एक बूथ पर 23 जून को मतदान के दिन मतदाताओं की लगी लंबी कतार।

आजमगढ़ जिले में 23 जून को हुए मतदान का प्रतिशत रात तक 48.58 प्रतिशत रहा। निर्वाचन आयोग ने जब सारा आंकड़ा जुटा कर इसे मिलाया और स्क्रूटनी कर जो फाइनल रिपोर्ट तैयार की उसमें यह आंकड़ा बढ़कर 49.48 प्रतिशत हो गया। आजमगढ़ लोकसभा के अन्तर्गत आने वाले पांच विधानसभा क्षेत्रों मुबारकपुर, आजमगढ़, मेंहनगर, सगड़ी और गोपालपुर में मुबारकपुर सबसे अव्वल रहा। जिले में सबसे अधिक मतदान मुबारकपुर में हुआ है, जबकि सबसे कम मतदान की यदि बात की जाय तो यह मेंहनगर विधानसभा में हुआ है। यहां पर सबसे कम मतदान का रिकार्ड रहा है। जिले में चुनाव लड़ने वाले सपा, बसपा और भाजपा के प्रत्याशी अपने लोगों के साथ बैठक कर फीड बैक लेते नजर आ रहे हैं।

मुबारकपुर अव्वल तो मेंहनगर पिछड़ा
जिले में यदि मतदान की बात की जाय तो मुबारकपुर विधानसभा के मतदाताओं ने जमकर मतदान किया है। मुबाकरपुर विधानसभा में 51.70 प्रतिशत मतदान हुआ है, जबकि आजमगढ़ में 49.77 प्रतिशत मतदान ही हुआ है। जिले की सगड़ी विधानसभा में 49.46 प्रतिशत तो गोपालपुर में 49.91 प्रतिशत मतदान हुआ है। मेंहनगर विधानसभा में सबसे कम 46.57 प्रतिशत ही मतदान हो सका है।

मेंहनगर में सबसे अधिक मतदाता
जिले में यदि विधानसभा क्षेत्रों में मतदाताओं की संख्या की बात की जाय तो मेंहनगर विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक मतदाता हैं। इसके बाद भी लोकसभा और विधानसभा के चुनाव में यहां पर कम मतदान होता हैं। यहां के मतदाताओं ने उपचुनाव में भी पुरानी परंपरा का निर्वहन किया है। जिले के मेंहनगर में यदि मतदाताओं की संख्या की बात की जाय तो यह चार लाख, तीन हजार, 650 है। वहीं गोपालपुर में तीन लाख 50 हजार, 755 मतदाता हैं। सगड़ी विधानसभा क्षेत्र में तीन लाख 35 हजार 990 मतदाता हैं, जबकि मुबारकपुर में तीन लाख 35 हजार, 333 मतदाता हैं। आजमगढ़ सदर विधानसभा में तीन लाख 95 हजार 202 मतदाता हैं।

इनकी प्रतिष्ठा दांव पर
आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में भाजपा ने भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को अपना प्रत्याशी बनाया है, जबकि सपा ने सैफई परिवार के धर्मेन्द्र यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। बसपा ने पूर्व विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली को अपना प्रत्याशी बनाया है। ऐसे में सभी लोगों की निगाहें 26 जून को होने वाली मतगणना पर लगी हुई है।

खबरें और भी हैं...