आजमगढ़ में जलभराव प्रभावित जनता को मिल रहा आश्वासन:विधायक, जिला प्रशासन भाजपा नेता दे रहे सिर्फ आश्वासन, जनता बोली 21 दिनों से नारकीय जीवन जीने को मजबूर हम लोग

आजमगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में भारी बारिश से डूबे मकानों की तस्वीर, नारकीय जीवन जीने को मजबूर जनता। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले में भारी बारिश से डूबे मकानों की तस्वीर, नारकीय जीवन जीने को मजबूर जनता।

आजमगढ़ जिले में भारी बारिश से शहर से सटे कोलघाट,प्रहलादनगर, चांदमारी, बागेश्वर, मड्या, हीरापट्‌टी फराजटोला में जलभराव हुआ है। जिले में 16 सितम्बर से हो रही बारिश के कारण इन क्षेत्रों में रहने वाले लोग जलभराव व अंधेरे में रहने को मजबूर हैं। जिला प्रशासन ने लेकर जनप्रतिनिधि तक सभी इन लोगों को सिर्फ आश्वासन दे रहे हैं। कमिश्नर के निर्देश पर जिले के ADM फाइनेंस आजाद भगत सिंह ने 3 अक्टूबर को इन क्षेत्रों का दौरा कर 48 घंटे में जलभराव खत्म करने का आश्वासन स्थानीय जनता को दिया था। पर 100 घंटे बीत जाने के बाद भी हाल वैसे है। ऐसे में समझा जा सकता है कि जलभराव वाले लोगों की समस्याओं के समाधान को लेकर जिला प्रशासन कितना गंभीर है।

आजमगढ़ जिले में जलभराव की समस्या पर बोले भाजपा नेता अखिलेश मिश्र, 40 वर्षों से नहीं हुआ जिले में विकास।
आजमगढ़ जिले में जलभराव की समस्या पर बोले भाजपा नेता अखिलेश मिश्र, 40 वर्षों से नहीं हुआ जिले में विकास।

क्या कहते हैं भाजपा नेता
जलभराव वाले इलाकों का लगातार दौरा कर रहे भाजपा के नेता अखिलेश मिश्र गु्ड्‌डू का कहना है कि लगातार दौरा किया जा रहा है। और प्रशासन से जल्द से जल्द जलभराव को खत्म करने की बात भी की जा रही है। पर जिस तरह से तमसा नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। ऐसे में समस्या आ रही है। जल्द ही जलभराव से यहां की जनता को मुक्ति मिलेगी। भाजपा नेता का कहना है कि जो लोग 40 साल से जनप्रतिनिधि हैं, यदि ध्यान दिया होता तो जिले की जनता को इस समस्या का सामना न करना पड़ता।

क्या कहते हैं क्षेत्रीय विधायक
जिले में जलभराव के सवाल पर सदर विधायक दुर्गा प्रसाद यादव का कहना है कि जिले में जो भी विकास कार्य हुए हैं। वह सब सपा की सरकार में हुआ है। पूर्व मंत्री का कहना है कि जिले में लोग बाढ़ से परेशान हैं लेकिन प्रशासन पूरी तरह लापरवाह बना हुआ है। आजमगढ़ शहर पूरी तरह जलाशय में तब्दील हो चुका है। जिले के सांसद अखिलेश यादव ने बागेश्वर नगर में 2 पंप लगाने के लिए जिला प्रशासन को अपने निधि से धन आवंटित किया था। लेकिन जिला प्रशासन द्वारा वह पंप समय से नहीं लगाया गया। अगर वह पंप समय से लग गया होता तो आज शहर की स्थिति इतनी भयावह नहीं होती। 1 महीने से शहर के कई मोहल्ले बाढ़ के पानी से डूबे हुए हैं, लेकिन प्रशासन व सरकार का ध्यान इस तरफ बिल्कुल नहीं है। ऐसे में समझा जा सकता है कि जनसमस्याओं को लेकर यह सरकार कितनी गंभीर है।

आजमगढ़ में में जलभराव पर सदर विधायक दुर्गा प्रसाद यादव ने जिला प्रशासन व भाजपा पर साधा निशाना।
आजमगढ़ में में जलभराव पर सदर विधायक दुर्गा प्रसाद यादव ने जिला प्रशासन व भाजपा पर साधा निशाना।

क्या कहती है जनता
21 दिनों से जलभराव व बिजली संकट से जूझ रही जनता का कहना है कि नेता से लेकर अधिकारी तक सभी हम लोगों को झूठा आश्वासन दे रहे हैं। यदि नेता व प्रशासन ने गंभीरता से इस पर विचार किया होता तो इतने दिनों से हम लोगों को नारकीय जीवन जीने के लिए मजबूर न होना पड़ता।

खबरें और भी हैं...