आजमगढ़ के प्राइमरी स्कूल बने टापू:50 से ज्यादा स्कूलों में भरा है पानी, आसपास के घरों में बच्चों को पढ़ा रहे टीचर, BSA बोले- पानी निकालने की हो रही कोशिश

आजमगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले के सठियांव के स्कूल में पानी भरा है। - Dainik Bhaskar
आजमगढ़ जिले के सठियांव के स्कूल में पानी भरा है।

अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के प्राइमरी स्कूल टापू बन गए हैं। जिले के 50 से अधिक प्राइमरी स्कूलों में पानी भरा है। इससे यहां पर पढ़ाई भी नहीं हो पा रही है। लेकिन टीचरों व बच्चों की सुनने वाला कोई नहीं है।

दो फीट से ज्यादा भरा पानी

जिले के सठियांव, कंधरापुर, मुबारकपुर, अजमगतगढ़, देवारा, कोलघाट के कई प्राइमरी स्कूल ऐसे हैं जहां दो फीट से ज्यादा पानी भरा है। ऐसे में यहां पढ़ने आने वाले बच्चों व टीचरों को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। टीचर आसपास के घरों के बरामदों में बच्चों को बैठाकर पढ़ा रहे हैं। लेकिन इस समस्या को लेकर न तो जिला प्रशासन गंभीर है और न ही शिक्षा विभाग ने कुछ किया है।

आजमगढ़ जिले के कंधरापुर का प्राइमरी स्कूल पानी में डूबा हुआ।
आजमगढ़ जिले के कंधरापुर का प्राइमरी स्कूल पानी में डूबा हुआ।

BSA बोले- स्कूलों से पानी निकालने की हो रही कोशिश
जिले के BSA अतुल सिंह का कहना है कि जिन स्कूलों में पानी भर गया है, वहां के बच्चों व टीचरों को शिफ्ट कर पढ़ाई कराई जा रही जा रही है। इसके साथ ही लगातार स्कूलों से पानी निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले में 2702 प्राइमरी व जूनियर स्कूल हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि जलभराव वाले स्कूल के बच्चों व टीचरों की कितनी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

आजमगढ़ जिले के प्राइमरी स्कूलों में जलभराव की तस्वीरें।
आजमगढ़ जिले के प्राइमरी स्कूलों में जलभराव की तस्वीरें।

शिक्षकों में गुस्सा
प्राइमरी स्कूलों में जलभराव को लेकर स्कूल के टीचर काफी नाराज हैं। हालांकि कार्रवाई के डर से कुछ बोल नहीं रहे हैं। टीचरों ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि जिस तरह से स्कूलों में पानी भर गया है, उससे हम लोगों के दर्द को समझा जा सकता है। पर हम लोगों के बारे में सोचने वाला कोई नहीं है।

खबरें और भी हैं...