फूलपुर:महेंद्र सिंह को 5 फरवरी को दिल्ली में मिलेगा कबीर कोहिनूर पुरस्कार, पूर्व में भी प्राकृतिक खेती को लेकर हो चुके हैं पुरस्कृत

फूलपुर, आजमगढ़10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

फूलपुर (आजमगढ़) । जनपद आजमगढ़ के फूलपुर निवासी प्राकृति कृषि कृषक महेंद्र कुमार सिंह 5 फरवरी को कबीर कोहिनूर बन जाएंगे। उनका चयन कबीर कोहिनूर पुरस्कार के लिए कर लिया गया है। इसके पहले प्राकृतिक खेती करने और उसे बढ़ावा देने के लिए उन्हें प्राधनमंत्री, मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल पुरस्कारों सहित कई पुरस्कार मिल चुके हैं।

फूलपुर ब्लाक के खरसहन खुर्द गांव के प्राकृति कृषि कृषक और प्रशिक्षक महेन्द्र कुमार सिंह का चयन कबीर कोहिनूर अवार्ड 2023 के लिए नाम चयनित किया गया है। यह पुरस्कार नई दिल्ली में 5 फरवरी को डॉ आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हाल में महामहीम नानक दास द्वारा प्राकृति कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए यह अवार्ड दिया जाएगा। प्राकृतिक कृषक और प्रशिक्षक महेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि यह अवार्ड श्री भरत भूषण महंत डॉ नानक दास जी पूर्व केंद्रीय टी बोर्ड सदस्य भारत सरकार अखिल भारतीय कबीर मठ परम्परागत सदगुरू बीर आश्रम सेवा संस्थान बड़ी खाटू राजस्थान तथा कबीर समाधि स्थल मगहर धाम की तरफ से 504वां कबीर परिनिर्वाण महोत्सव के पावन अवसर पर देश मे पहली बार कबीर कोहिनूर अवार्ड के सम्मान से देश की 100 महान हस्तियों के चयन हुआ है । जो नई दिल्ली में 5 फरवरी को डॉ आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हाल में महामहीम नानक दास द्वारा प्राकृति कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए यह अवार्ड दिया जाएगा। इसके लिए आमंत्रण पत्र मिल चुका है।

जिसमे प्रथम सूची क्रमांक 3 पर महेन्द्र कुमार सिंह का नाम चयन हुआ है । महेंद्र कुमार को अबतक प्रधानमंत्री ,राज्यपाल , मुख्यमंत्री सहित दर्जन भर से अधिक सम्मान मिल चुका है । प्राकृतिक कृषि विधि से खेती के लिए कृषक एवं प्रशिक्षक महेंद्र कुमार सिंह के द्वारा प्रदेश के कई जिलों प्राकृतिक खेती के बारे में एक गाय से 30 एकड़ खेती किये जाने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है ।