बदायूं में वैगनार से 15.50 लाख बरामद:चेकिंग के दौरान पुलिस ने व्यापारी को कैश के साथ पकड़ा, नहीं दे पाया हिसाब

बदायूं3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीओ सिटी ने बताया कि लगातार निगरानी की जा रही है, रकम को फिलहाल कोषागार में जमा कराया जाएगा। इसका निस्तारण चुनाव के बाद समिति के जरिए होगा। - Dainik Bhaskar
सीओ सिटी ने बताया कि लगातार निगरानी की जा रही है, रकम को फिलहाल कोषागार में जमा कराया जाएगा। इसका निस्तारण चुनाव के बाद समिति के जरिए होगा।

बदायूं में आचार संहिता के चलते अवैध चुनाव सामग्री आदि की चेकिंग के लिए बनाई गई पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की संयुक्त टीम ने शुक्रवार रात बरेली के आंवला बॉर्डर पर वैगनआर कार से साढ़े 15 लाख कैश बरामद किया है। पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है। कैश कहां से आ रहा था और कहां ले जाया जा रहा था, इसको लेकर देर रात तक युवक कोई संतुष्टि पूर्ण जवाब नहीं दे सका था। फिलहाल प्रशासन ने रकम को जब्त कर लिया है।

कुंवरगांव थाना पुलिस और प्रशासन का उड़नदस्ता सीओ सिटी आलोक मिश्रा के नेतृत्व में रात के वक्त बैरियर लगाकर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इस दौरान बरेली के आंवला की ओर से आ रही एक कार को रोका गया। चेकिंग में कार में से साढ़े 15 लाख कैश बरामद हुआ। कार में सवार युवक ने अपना नाम अमित गुप्ता निवासी मोहल्ला कांसपुर रोड कोतवाली दातागंज, बदायूं बताया। बरामद रकम के बारे में कोई बिलिंग वह नहीं दिखा सका और न ही कोई संतुष्टि पूर्ण जवाब दे सका। इस पर पुलिस उसे थाने ले आई।

खुद को धान व्यापारी बता रहा है युवक

पूछताछ में युवक ने बताया कि वह धान का व्यापारी है और यह रकम धान बेचकर ला रहा था। हालांकि धान किस व्यापारी को बेचे और उसकी कितनी धान की पैदावार हुई थी या फिर उसने धान कहां से खरीदे थे, इन सवालों का जवाब उसके पास नहीं है। पुलिस भी इसी बात को लेकर असमंजस में है। वहीं देर रात उसके परिजनों को भी बुलाया गया है।

दिन में भी पकड़े गए थे तीन लाख

शुक्रवार को दिन में भी फैजगंज बेहटा थाना पुलिस ने मुरादाबाद के एक व्यापारी को तीन लाख कैश समेत पकड़ा था। यह व्यापारी भी रकम के बारे में कोई लेखा-जोखा नहीं दे सका। कुल मिलाकर चुनाव से पहले ही जिले में बहुतायत में रकम का हस्तांतरण हो रहा है। प्रशासन द्वारा की गई है दोनों कार्रवाई महज बानगी भर है। सीओ सिटी ने बताया कि लगातार निगरानी की जा रही है, रकम को फिलहाल कोषागार में जमा कराया जाएगा। इसका निस्तारण चुनाव के बाद समिति के जरिए होगा।

खबरें और भी हैं...