वन विभाग और पुलिस टीम पर ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास:बदायूं में काटे जा रहे थे हरे-भरे पेड़, दबिश देने गई वन विभाग और पुलिस टीम को माफियाओं ने दौड़ाया

बदायूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वन विभाग और पुलिस टीम पर ट्रैक� - Dainik Bhaskar
वन विभाग और पुलिस टीम पर ट्रैक�

बदायूं जिले के सहसवान कोतवाली क्षेत्र के आनंदीपुर गांव में बुधवार को दिनदहाड़े लकड़ी माफिया के गुर्गों ने डायल-112 और वन विभाग की टीम को ट्रैक्टर से रौंदने का प्रयास किया। हालांकि बाद में गुर्गे ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क पर छोड़कर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

काटे जा रहे थे हरे-भरे पेड़

बता दें कि मामला सहसवान कोतवाली के आनंदीपुर गांव का है। वन विभाग को मुखबिर से सूचना मिली कि गांव में लकड़ी माफिया द्वारा हरे-भरे पेड़ कटवाए जा रहे हैं। सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी विकेंद्र कुमार, अनिल कुमार, सुशांक कुमार और वन दारोगा जितेंद्र कुमार मौके पर पहुंच गए। वन विभाग की टीम को देखकर लकड़ी माफिया बशीद व भूरा के गुर्गों ने उन्हें दौड़ा लिया।

ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क पर छोड़कर फरार हुए गुर्गे

टीम ने डायल-112 को इसकी जानकारी दी। आनन-फानन में डायल-112 पर तैनात कॉन्स्टेबल सोन प्रकाश, महिला कांस्टेबल शैली, चालक नंदराम मौके पर पहुंच गए। लकड़ी माफिया के गुर्गों ने ट्रैक्टर-ट्रॉली को उनकी भी गाड़ी पर चढ़ाने का प्रयास किया। हालांकि दोनों गाड़ियों के चालकों की सूझबूझ से सभी की जान बच गई। इस दौरान गुर्गे ट्रैक्टर-ट्रॉली सड़क पर ही छोड़कर फरार हो गए। मामले को लेकर जब सहसवान कोतवाली प्रभारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है, जबकि वन दारोगा जितेंद्र द्वारा कोतवाली में तहरीर दी जा चुकी है।

खबरें और भी हैं...