पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Badaun
  • Daughter Was Molested By Bullies, Thrashed For Protesting; On Going To The Police, He Was First Brutally Beaten Then Threatened To Implicate Him In The Trial

बदायूं में पुलिस की पिटाई से घायल हुआ युवक:बेटी के साथ दबंगों ने की छेड़छाड़, विरोध करने पर कर दी पिटाई; पुलिस के पास जाने पर पहले बेरहमी से पीटा गया- फिर दी मुकदमे में फंसाने की धमकी

बदायूं14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बदायूं में पुलिस की पिटाई से घायल हुआ युवक। - Dainik Bhaskar
बदायूं में पुलिस की पिटाई से घायल हुआ युवक।

बदायूं में पुलिस ने फरियाद लेकर आए एक किशोरी के पिता के साथ बेरहमी से मारपीट कर उसको घायल कर दिया है। मुंह खोलने पर उसे फर्जी मुकमदे में फंसाने की धमकी भी दी है। पीड़ित की बेटी के साथ दो दबंगों ने घर में घुसकर छेड़खानी की थी। विरोध करने पर पीड़िता के पिता की पिटाई कर दी। बाद में जब मामले की सूचना पुलिस को दी गई। तो पुलिस पिता और बेटी को थाने ले आई। जहां रात भर दोनों को मारा गया। पीड़ित की छाती पर पुलिस वाले बैठ गए। इसके बाद उन दोनों का शांती भंग करने के मामले में चालान भी कर दिया गया।

बेटी के साथ छेड़खानी का किया था विरोध
जिले के दातागंज थाना क्षेत्र के एक गांव का है। यहां के रहने वाले पीड़ित की बेटी के साथ रविवार देर शाम उसके गांव के ही दो दबंगों ने छेड़छाड़ की थी। जिस पर उसके पिता ने नाराजगी जताई। जिसके बाद आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की। पीड़ित ने डायल 112 पर फोन कर मामले की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस पीड़ित व उसकी 16 साल की बेटी को थाने ले आई।

पूरी रात पुलिस ने पीटा
थाने में पूरी रात पुलिस ने बुरी तरह पीड़ित के साथ मारपीट की। तथा पसली और सीने पर तीन-तीन पुलिस वाले बैठ गए। और पट्टों से भी मारा। जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। सोमवार को उसका 151 में पुलिस ने चालान किया और तहसील कोर्ट ले गई। जब परिजनों ने पीड़ित को इस हालत में देखा। तो गामा भी किया।

पुलिस ने दी धमकी
पुलिस ने पीड़ित को धमकाया और कहा पुलिस के खिलाफ बोले तो फर्जी मुकदमे में फंसा देंगे। जिंदगी भर न्यायालय के चक्कर लगाते रहोगे। इस मामले में पीड़ित की बेटी ने बताया कि रविवार शाम गांव के ही दो दबंग घर मे घुस आए और उसके साथ जबर्दस्ती करने लगे। शोर मचाने पर वह जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए। पुलिस जब उसे थाने लेकर आई तो कोई भी महिला कांस्टेबल नहीं थी। उसे लाकर कोतवाली में छोड़ दिया गया। पूरी रात महिला कांस्टेबल ने पीड़िता के साथ कोतवाली में मारपीट की तथा उसके पिता को भी बुरी तरह पिटते रहे। कई बार नमाज पढ़वाई।

पुलिस मामले को छिपाने में जुटी
वहीं पुलिस ने घटना को छुपाने के लिए आरोपी पक्ष के दो नामजद व एक लड़की के खिलाफ शांति भंग की धारा में केस दर्ज किया है। तथा पीड़ित व उसकी बेटी पर भी शांति भंग में चालान किया। पुलिस ने बताया कि गांव में जमीनी विवाद का मामला चल रहा है। पुलिस ने दोनों तरफ से शांति भंग की कार्रवाी कर दी है। पुलिस द्वारा ऐसी कोई मारपीट नहीं की गई है।

खबरें और भी हैं...