• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Badaun
  • In Badaun, The Soldier's Female Friend Cut The Vein, The Incident Made The Officers Sleep, The District Hospital Ran Till Midnight; Investigation Underway

बदायूं में सिपाही की महिला दोस्त ने काटी नस:घटना ने उड़ाई अफसरों की नींद, आधी रात तक दौड़े जिला अस्पताल; जांच जारी

बदायूं2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिपाही का नाम रवींद्र चौधरी बताया जा रहा है। अस्पताल में  पुलिस इंफार्मेशन बुक में यही नाम दर्ज किया गया है।  - Dainik Bhaskar
सिपाही का नाम रवींद्र चौधरी बताया जा रहा है। अस्पताल में पुलिस इंफार्मेशन बुक में यही नाम दर्ज किया गया है। 

बदायूं जिले में तैनात सिपाही की दोस्त ने कलाई की नस काट ली। मंगलवार देर रात सिपाही युवती को लेकर जिला अस्पताल की इमरजेंसी में पहुंचा। इमरजेंसी मेडिकल अफसर को उसने अपना नाम कांस्टेबल रवींद्र चौधरी बताया और कहा कि वह सिविल लाइंस थाने में तैनात है। उसने अपना सरकारी नंबर भी बताते हुए युवती का इलाज करने को कहा और चुपचाप वहां से खिसकने लगा।

हालांकि स्टाफ से झड़प और विरोध के चलते उसने पीआईबी (पुलिस इंफार्मेशन बुक) में 23 वर्षीय युवती का नाम व पता दर्ज कराया और यह भी अपने हाथ से लिखा कि युवती उसकी दोस्त है। युवती ने खुद हाथ काटा है। इसके बाद स्टाफ ने उसका इलाज शुरू किया। इसी बीच युवती के परिजन पहुंचे और सिपाही से उनकी कहासुनी हुई तो वह अस्पताल से भाग गया।

हतप्रभ रह गए अफसर

देर रात तकरीबन 11 बजे पीआईबी सदर कोतवाली पहुंची और कंट्रोलरूम को मैसेज नोट कराया गया तो पूरे जिले में यह मामला उजागर हो गया। सिटी सर्किल के लिंक अफसर एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा ने एसएसपी डॉ ओपी सिंह को पूरी स्थिति बताई तो सिविल लाइंस थाने में तैनात इस सिपाही को कप्तान ने आधी रात में तलब कर लिया। यहां सिपाही साफ मुकर गया कि उसने किसी को भर्ती कराया है। उसका कहना था कि कोई अन्य सिपाही उसके नाम से युवती को ले गया है। इस पर अफसर सीसीटीवी फुटेज खंगालने जा पहुंचे, ताकि असलियत सामने आए।

इस तस्वीर में सिपाही की महिला मित्र दिख रही है।
इस तस्वीर में सिपाही की महिला मित्र दिख रही है।

स्टाफ का भी दर्ज होगा बयान

सीसीटीवी कैमरे में किसका चेहरा सामने आया है। इस सवाल के नाम पर अफसर जांच के बाद खुलासे की बात कह रहे हैं। इतना जरूर है कि दोपहर को उस वक्त ड्यटी पर तैनात स्टाफ का भी बयान पुलिस दर्ज करेगी। इसके बाद अगर सिपाही यही निकला तो उस पर कार्रवाई होगी और कोई अन्य सिपाही साजिश करता हुआ पाया गया तो नौबत मुकदमेदारी की आएगी। दोनों के रिश्ते के बारे में भी पुलिस कुंडली खंगालने के लिए काल डिटेल खंगाल रही है। युवती ने नस क्यों काटी वजह तलाशी जा रही है

सिद्धार्थ वर्मा, एसपी देहात ने बताया है कि रात में कई तथ्यों पर जांच हुई है। चेहरा बेनकाब हो चुका है और एसएसपी को रिपोर्ट दे रहे हैं। आगे की कार्रवाई उन्हीं के स्तर से होगी। युवती ने नस क्यों काटी यह वजह फिलहाल तलाशी जा रही है। कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा। पूरा प्रकरण जिला अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद है। पुलिस अधिकारी भी इसी बिंदु पर जांच आगे बढ़ाने की तैयारी में हैं। शुरुआत में सिपाही ने अपने बयान में कहा है कि उसने किसी को भर्ती नहीं कराया है। सिद्धार्थ वर्मा, एसपी देहात ने कहा कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। सिपाही को बुलवाया गया है। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।