बदायूं में पकड़े गए 2 कछुआ तस्कर:ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा, 12 कछुए बरामद

बदायूं2 महीने पहले
बदायूं में पकड़े गए 2 कछुआ तस्कर

बदायूं में हल्की बारिश के साथ ही कछुआ तस्कर सक्रिय हो गए हैं। रविवार को सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में तालाब से कछुए पकड़ रहे दो तस्करों को गांव वालों ने पकड़कर पुलिस को सौंपा है। वहीं वन विभाग की टीम भी मौके पर जा पहुंची। फिलहाल पुलिस इन आरोपियों के खिलाफ लिखापढ़ी की तैयारी में है। वन विभाग की ओर से तहरीर का इंतजार किया जा रहा है।
जिले की थाना सिविल लाइंस इलाके में स्थित आमगांव के तालाब पर दो संदिग्ध युवक बोरी लेकर गांव वालों को घूमते दिखते। इनकी निगरानी की गई तो पता लगा कि दोनों कछुआ तस्कर हैं और तालाब से कछुए निकाल रहे हैं। इस पर भीड़ ने आरोपियों को धर दबोचा।
बोरी में मिले 12 कछुए
आरोपियों के पास से बरामद बोरी गांव वालों ने खोली तो उसमें 12 कछुए बरामद हुए। आरोपियों ने कबूला कि इन कछुओं को बेचने के लिए ले जाने वाले थे। मामले की जानकारी पर वन विभाग की टीम समेत पुलिस भी मौके पर जा पहुंची और आरोपियों को हिरासत में ले लिया।
घुमंतू जाति हैं दोनों
पकड़े गए युवकों ने अपने नाम रवि व राहुल बताए। दोनों मौजूदा वक्त में शहर से सटे मीरा सराय गांव के पास रह रहे हैं। जबकि मूल निवासी मोहल्ला चारबाग कस्बा बिसौली के हैं। आरोपीगण घुमंतू जाति के हैं।
बड़े खतरे का संकेत
हर साल बारिश के मौसम में जिले में घुमंतू प्रजाति के लोगों की चहलकदमी बढ़ जाती है। हालांकि प्रदेशस्तर पर इस प्रजाति के लोगों को खदेड़ने का निर्देश पुलिस को मिलता है। क्योंकि यही लोग चोरी, डकैती सरीखी वारदातों को अंजाम देते हैं और आराम से निकल जाते हैं। मीरा सराय इलाके में घुमंतुओं का बसेरा है और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं। इसको लेकर सवाल उठना लाजिमी है। क्योंकि घुमंतुओं का किसी भी शहर में पहुंचना खतरे का संकेत माना जाता है।