बडौत में कांशीराम कालोनी बनीं सट्टे व जुए का अड्‌डा:आवंटित 40 मकानों को किराए पर उठाया, परियोजना निदेशक भी नहीं करा पाईं खाली, कहा- पुलिस का नहीं मिला सहयोग

बडौत, बागपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांशीराम कालोनी में चल रहा गोरखधंधा। - Dainik Bhaskar
कांशीराम कालोनी में चल रहा गोरखधंधा।

बड़ौत में कांशीराम कालोनी में 40 से अधिक आवास किराए पर चल रहे हैं, जिनमें गोरखधंधा चल रहा है। लेकिन शिकायत के बावजूद कोई सुनवाई नहीं हो रही है। आरोप है कि गोरखधंधे से जुड़े लोगों को पुलिस का संरक्षण प्राप्त है। स्वदेशी जागरण मंच के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम से आवासों को खाली कराने की मांग उठाई है।

जिलाध्यक्ष की शिकायत पर हुई जांच

कुछ माह पहले डूडा परियोजना निदेशक रजनी पुंडीर को स्वदेशी जागरण मंच के जिलाध्यक्ष अरविन्द उर्फ भोला ने कांशीराम कालोनी दिल्ली रोड व मलकपुर रोड पर स्थित आवासों को किराए पर देने की शिकायत की थी। बताया था कि जिन लोगों को सरकारी योजना के तहत आवास आंवटित किए गए थे, उन लोगों ने घर को किराए पर दे दिया है, जिनमें सट्टे और जुआ सहित अन्य गोरखधंधा चल रहे हैं। इससे कालोनी में रहने वाले अन्य लोग परेशान व दुखी है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

कांशीराम कालोनी में चल रहा जुए और सट्टे का कारोबार।
कांशीराम कालोनी में चल रहा जुए और सट्टे का कारोबार।

पीडी बोलीं- एसडीएम और सीओ को सौंप चुकी रिपोर्ट

वहीं, डूडा परियोजना निदेशक रजनी पुंडीर से बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि शिकायत पर जांच कराई गई थी, जिसमें 40 मकान किराए पर संचालित होते मिले। बताया कि मैं खुद आवासों को खाली कराने के लिए गई थी, लेकिन खाली नहीं करा पाई। इसकी रिपोर्ट तैयार कर एसडीएम व सीओ को सौंपकर खाली कराने के लिए कहा गया था, लेकिन सहयोग न मिलने के कारण अभी तक मकान खाली नहीं हो पाए हैं। पुलिस को जल्द से जल्द खाली कराना चाहिए।