बागपत में अवैध अतिक्रमण पर चला बुलडोजर:43 मकानों को किया गया ध्वस्त, सुरक्षा को लेकर गांव में तैनात रहा पुलिस बल

बागपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया। - Dainik Bhaskar
बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया।

बागपत में कोर्ट के आदेश के बाद अवैध अतिक्रमण पर एक बार फिर बुलडोजर गरजा। सिनौली गांव में तालाब की भूमि पर बने करीब 43 मकान आज प्रशासन की टीम ने ध्वस्त कर दिया। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गांव में भारी पुलिस बल तैनात रहा।

बागपत जनपद के सनौली गांव में कोर्ट के आदेश के बाद आज प्रशासन की टीम ने गांव में पहुंचकर तालाब किनारे तालाब की भूमि पर बने करीब 43 मकानों को ध्वस्तकरण की कार्रवाई शुरू की। मामूली विरोध के चलते प्रशासन की टीम ने सभी मकानों को ध्वस्त किया। सुरक्षा के मद्देनजर भारी पुलिस बल की तैनाती रही।

बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया।
बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया।

ग्रामीणों ने किया मामूली विरोध
न्यायालय के आदेश के बाद प्रशासन की टीम ने आज गांव पहुंचकर बुलडोजर चलाकर 43 मकानों को ध्वस्त किया। बागपत एसडीएम सुभाष सिंह ने बताया कि न्यायालय के आदेश के बाद ध्वस्तीकरण करने की कार्रवाई की गई है। शिनौली गांव में कुछ ग्रामीणों ने प्रशासन की इस कार्रवाई का मामूली विरोध किया। मामूली विरोध के बाद टीम ने सभी मकानों को ध्वस्त किया।

बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया।
बागपत में अवैध अतिक्रमण को बुलडोजर चलवाकर ध्वस्त कराया गया।

गांव में पुलिस की रही तैनाती
कुछ गांवों के ग्रामीणों ने कहा कि हम प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं। सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन की टीम के साथ भारी पुलिस बल की तैनाती रही। ध्वस्तीकरण के दौरान भारी पुलिस बल गांव में मौजूद रहा। किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए भारी पुलिस बल की गांव में तैनाती की गई थी।

कोर्ट के आदेश पर हुई कार्रवाई
गांव के ही एक व्यक्ति ने तालाब की जमीन में बने मकानों की शिकायत की थी जिसका न्यायालय में वाद चल रहा था। न्यायालय के आदेश के बाद प्रशासन की टीम ने ध्वस्तीकरण की इस कार्रवाई को अंजाम दिया। गांव में तालाब की जमीन पर बने करीब 43 मकानों को प्रशासन की टीम ने ध्वस्त किया।

खबरें और भी हैं...