पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बागपत में पंचायत सचिवों का प्रदर्शन:डीपीआरओ पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप, एक हफ्ते से दे रहे थे धरना; आज से भूख हड़ताल पर बैठे

बागपत19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में विकास भवन  के बाहर धरने पर बैठे पंचायत सचीव। - Dainik Bhaskar
बागपत में विकास भवन के बाहर धरने पर बैठे पंचायत सचीव।

बागपत में पंचायत सचिवों का डीपीआरओ व लिपिक के खिलाफ प्रदर्शन बढ़ता जा रहा है। उनका आरोप है कि उनके नाम पर डीपीआरओ ने अवैध वसूली की है। प्रदर्शन के दौरान उन लोगों की मांग है कि डीपीआरओ के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जब तक कार्रवाई नहीं होती वह लोग कार्य नहीं करेंगे। एक सप्ताह से यह हड़ताल जारी है।

भूख हड़ताल पर बैठे सचिव
बागपत विकास भवन में पिछले सोमवार से ग्राम विकास अधिकारी जौनी चौधरी व ग्राम पंचायत अधिकारी विकूल तोमर भूख हड़ताल पर बैठ गए है। ग्राम पंचायत सचिवों व विकास अधिकारियों का कहना है कि डीपीआरओ बागपत बनवारी सिंह के खिलाफ अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। जिससे कर्मचारियों में आक्रोश बना हुआ है। ग्राम विकास अधिकारी व ग्राम पंचायत अधिकारी समन्वय समिति के नेतृत्व पर ग्राम सचिवों का एक सप्ताह से धरना प्रदर्शन जारी है। इस धरने को रालोद से पूर्व विधायक वीरपाल राठी व आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता सोमेंद्र ढाका, महिला आंगनबाडी संघ जिलाध्यक्ष सुषमा गुर्जर, सफाई कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष हरिशंकर ने भी अपना समर्थन दिया है ।

डीपीआरओ पर कार्रवाई की है मांग
सचिवों का कहना है कि डीपीआरओ बनवारी सिंह व लिपिक शफीक अहमद पर कार्रवाई नहीं होने तक उनका धरना जारी रहेगा। उनका कहना है कि यदि कार्रवाई नहीं होती तो पूरे प्रदेश के सचिवों का सहयोग लेकर विकास कार्य ठप करेंगे। विभाग के अधिकारी द्वारा पंचायती राज मंत्री, प्रमुख सचिव पंचायती राज, निदेशक पंचायती राज के नाम से वसूली की गई है।

खबरें और भी हैं...