किसानों के समर्थन में बागपत बंद:सुबह 11 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक रहेगा चक्का जाम, हाइवे पर किसानों ने पीया हुक्का, तो किसी ने भगवान को किया याद

बागपत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसानों ने हाइवे को किया जाम, बीच में बैठकर किया हुक्का। - Dainik Bhaskar
किसानों ने हाइवे को किया जाम, बीच में बैठकर किया हुक्का।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 27 सितंबर को भारत बंद का एलान किया गया था। इसी क्रम में बागपत में कई जगहों पर किसानों ने चक्का जाम किया। किसान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक चक्का जाम करेंगे। किसानों के चक्का जाम को लेकर बागपत प्रशासन भी अलर्ट पर है। जनपद को 4 जोन और 11 सेक्टर में बांटरकर पुलिस और पीएसी बल लगाया गया है। पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के पूरे इंतजाम किए हैं।

किसानों ने हाईवे पर बैठकर पीया हुक्का।
किसानों ने हाईवे पर बैठकर पीया हुक्का।

पश्चिमी उत्तरप्रदेश के बागपत, मेरठ, शामली, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद समेत कई क्षेत्रों में किसानों ने चक्का जाम किया गया। भारत बंद के दौरान किसान संगठनों, रालोद कार्यकर्ताओं और कम्युनिस्ट पार्टी के लोगों ने हाइवे जाम कर दिया।

गर्मी में किसानों ने पी ठंडी फैंटा।
गर्मी में किसानों ने पी ठंडी फैंटा।

बागपत के बड़ौत में औद्योगिक पुलिस चौकी के पास दिल्ली यमनोत्री नेशनल हाइवे-709 बी पर किसानों ने जमकर नारेबाजी की। किसानों ने सरकार विरोधी नारेबाजी भी की। भारत बंद के दौरान एम्बुलेंस, स्कूली वाहन और सेना के वाहनों को आने जाने दिया गया।

चक्का जाम के दौरान किसानों ने भगवान को भी किया याद।
चक्का जाम के दौरान किसानों ने भगवान को भी किया याद।

योगी सरकार के गन्ने के मूल्य में 25 रुपए की बढ़ोतरी किए जाने पर भी किसान नाखुश नजर आए। किसानों ने कहा कि सरकार को साढ़े चार साल हो चुके है अभी तक गन्ने के रेट नहीं बढ़ाए गए थे, लेकिन अब जब सरकार बदलने का समय आया तो गन्ने के रेट में बढ़ोतरी कर दी गई।

किसानों ने कहा ये सरकार है गूंगी बहरी।
किसानों ने कहा ये सरकार है गूंगी बहरी।

किसानों ने कहा ये सरकार गूंगी- बहरी सरकार है। किसानों ने सरकार को पूंजीपतियों की सरकार बताया है। किसानों ने कहा कि अगर हमारी मांगे पूरी नहीं हुई तो सरकार 2022 और 2024 में बाहर हो जाएगी।

किसानों ने नेशनल हाइवे-709 को किया जाम।
किसानों ने नेशनल हाइवे-709 को किया जाम।
खबरें और भी हैं...