राम रहीम के बागपत आश्रम से ग्राउंड रिपोर्ट:दिन में 4 बार 15 मिनट के लिए अनुयायियों से मिलता है, हनीप्रीत भी साथ

2 महीने पहले

यूपी का बागपत जिला इस समय चर्चा में है। वजह डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह है। उसने जिला मुख्यालय से लगभग 35 किमी दूर बरनावा में आश्रम में अपना डेरा जमाया है। रोहतक जेल से मिली 30 दिन की पैरोल खत्म होने तक वह यहीं रहेगा। यूपी, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब से उसके अनुयायी मिलने के लिए पहुंच रहे हैं। राम रहीम दिन में 4 बार सिर्फ 15-20 मिनट के लिए उनसे मिलता है।

45 सेवादारों ने डेरे की सुरक्षा संभाल रखी है। वही तय करते हैं कि कब और किस अनुयायी को राम रहीम से मिलना है। राम रहीम का ख्याल रखने के लिए उनकी मुंह बोली बेटी हनीप्रीत भी पहुंच गई है।

  • खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

पढ़िए बरनावा डेरे से ग्राउंड रिपोर्ट…

सेवादारों की मर्जी के बिना कोई अनुयायी नहीं मिल सकता
डेरे के बाहर 6 पुलिसकर्मी तैनात हैं। इनकी तैनाती प्रशासन की तरफ से की गई है, लेकिन पुलिसकर्मियों से ज्यादा सेवादार नजर आते हैं। 45 सेवादारों ने पूरे डेरे को घेर रखा है। उनकी मर्जी के बिना कोई भी अंदर नहीं जा सकता है।

समर्थकों की गाड़ियों के लिए पार्किंग की व्यवस्था की गई है। यहां एक बार में 100 से ज्यादा गाड़ियां खड़ी हो सकती हैं।
समर्थकों की गाड़ियों के लिए पार्किंग की व्यवस्था की गई है। यहां एक बार में 100 से ज्यादा गाड़ियां खड़ी हो सकती हैं।

तीन से ज्यादा राज्यों से बाबा से मिलने पहुंच रहे हैं समर्थक
बरनावा डेरे के आसपास कई गाड़ियां खड़ी नजर आईं। एक शख्स से पूछने पर पता चला कि पिछले तीन दिनों से यहां भीड़ बढ़ी है। ज्यादातर समर्थक अपनी गाड़ियों से आ रहे हैं। डेरे के बाहर दोनों तरफ 100-100 गाड़ियों की पार्किंग है। रोजाना यह पार्किंग लगभग फुल हो रही है। जो अनुयायी गाड़ी या पैदल आते हैं, वे पहले डेरे के सामने सिर झुकाते हैं। फिर राम रहीम की जय जयकार लगाते हैं।

डेरे में चल रही पहले आओ-पहले पाओ दर्शन की स्कीम
डेरे के बाहर तैनात सेवादार पहले आओ-पहले दर्शन पाओ के आधार पर ही समर्थकों को डेरे के अंदर भेज रहे हैं। एक अनुयायी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि बाबा पहले की ही तरह हम लोगों के सामने आते हैं और मात्र 15 से 20 मिनट के लिए मिलते हैं। वह पहली मुलाकात 7 बजे, दूसरी मुलाकात दोपहर 11 बजे, तीसरी मुलाकात 3 बजे और शाम को 5 बजे मुलाकात करते हैं।

यह फोटो बरनावा आश्रम के बाहर की है। यहां राम रहीम से मिलने के लिए बड़ी संख्या में अनुयायी पहुंच रहे हैं।
यह फोटो बरनावा आश्रम के बाहर की है। यहां राम रहीम से मिलने के लिए बड़ी संख्या में अनुयायी पहुंच रहे हैं।

इतना बिजी कि एक ही टाइम खा रहा है खाना
सेवादारों का कहना है कि गुरमीत राम रहीम का ज्यादातर समय ध्यान में बीत रहा है। उसका स्वास्थ्य भी पहले से बेहतर हुआ है। वह अपनी सेहत का पूरा ध्यान रख रहा है। हालांकि व्यस्तता अधिक है तो एक ही टाइम खाना खा रहा है।

परिवार के साथ हनीप्रीत भी पहुंची
सेवादारों ने बताया कि राम रहीम यहां एक महीने तक आराम और ध्यान करेगा। वह यहां अपने परिवार के साथ भी समय बिताएगा। इसके लिए जहां राम रहीम का परिवार बरनावा डेरे पर पहुंचा है तो वहीं हनीप्रीत भी डेरे में पहुंच चुकी है। अब वह ज्यादातर समय राम रहीम के साथ ही रहकर उनके खानपान और आराम का ख्याल रखती है।

बरनावा में राम रहीम का आश्रम, यह गेट बिना सेवादारों की मर्जी के खुलता नहीं है।
बरनावा में राम रहीम का आश्रम, यह गेट बिना सेवादारों की मर्जी के खुलता नहीं है।

अभी बरनावा स्थित डेरे में नहीं हुआ रूहानी सत्संग
बरनावा स्थित डेरे में हर महीने सत्संग होता है। जिसे रूहानी सत्संग नाम दिया गया है। लेकिन राम रहीम के पहुंचने के बाद अभी रूहानी सत्संग नहीं हुआ है। डेरे में रुहानी सत्संग का आयोजन कब होगा? इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है। सेवादारों के मुताबिक सत्संग में हर महीने बाबा का ज्ञान समर्थकों को दिया जाता है। साथ ही विशाल भंडारा भी कराया जाता है, जिसमें पड़ोसी राज्यों से भी लोग प्रसाद लेने आते हैं।

यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा
राम रहीम को 25 अगस्त 2017 में साध्वी यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा हुई थी। तब से वह जेल में ही बंद था। पत्रकार छत्रपति और रणजीत हत्याकांड में भी सजा काट रहा है। इससे पहले राम रहीम को 7 फरवरी से 28 फरवरी तक पहली पैरोल मिली थी।