बागपत में संविदाकर्मियों की हड़ताल से मरीज बेहाल:फार्मेसिस्टों की है 20 सूत्रीय मांग,  सीएचसी परिसर में काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन

बागपत8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में संविदाकर्मियों ने हाथों में काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन। - Dainik Bhaskar
बागपत में संविदाकर्मियों ने हाथों में काली पट्टी बांधकर किया प्रदर्शन।

बागपत के बड़ौत में विभिन्न मांगों के विरोध में सोमवार को संविदा कर्मचारियों का गुस्सा फूट पड़ा। उन्होंने सीएचसी बड़ौत के परिसर में हंगामा-प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए। उनका कहना है कि उनके साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है। वह लोग स्थाई करने की लंबे वक्त से मांग कर रहे हैं। जिसके बदले में उन्हें सरकार की तरफ से कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया जा रहा है।

काली पट्टी बांधकर 8 नवंबर तक किया जाएगा काम

जिले के बड़ौत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर विभिन्न मांगों को लेकर सोमवार को फार्मेसिस्टों ने भी मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने सीएचसी परिसर में काली पट्टी बांधकर कार्य किया तथा प्रदर्शन कर रोष भी जताया। फॉर्मसिस्ट धर्मेंद्र वेदवान ने बताया कि उनकी 20 सूत्रीय मांगों को लेकर एसोसिएशन सरकार से मांग करती आ रही है। वेतन पे-ग्रेड में बढ़ोतरी, पेंशन व्यवस्था में सुधार, पदोन्नति, डॉक्टरों की गैर मौजूदगी में चिकित्सीय कार्य कर रहे फॉर्मेसिस्ट को विधिक मान्यता दिए जाने, प्रभार भत्ता में बढ़ोतरी किए जाने समेत अन्य मांगें शामिल हैं। बताया कि काली पट्टी बांधकर 8 नवम्बर तक कार्य किया जाएगा।

9 से 16 दिसंबर तक घंटे का कार्य बहिष्कार

9 से 16 दिसंबर तक 2 घन्टे का कार्य बहिष्कार किया जाएगा। यदि मांगें पूरी ना हुई तो 17 दिसम्बर से कार्य बहिष्कार और 20 दिसम्बर से पूर्ण कार्य बहिष्कार किया जाएगा। इस अवसर पर ओमवीर व अन्य फार्मेसिस्ट भी शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...