किसानों ने की अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग:कहा- प्रधानमंत्री किसान-जवान का कर रहे अपमान, सेना में देश सेवा के लिये जाते हैं नौजवान

बागपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बागपत में अग्निपथ योजना के विरोध में आज भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन किया। अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग को लेकर पीएम के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। भाकियू जिला अध्यक्ष ने कहा कि सरकार किसानों और नौजवानों का अपमान कर रही है। जिसके विरोध में प्रदर्शन किया जा रहा है। देश का युवा रुपये कमाने के लिए सेना में भर्ती नहीं होता। उनके माता पिता देश की रक्षा करने सेना में भेजते हैं।

अग्निपथ योजना के विरोध में भाकियू कार्यकर्ता ट्रैक्टर ट्रॉलियों में सवार होकर कलेक्ट्रेट पहुंचे और प्रदर्शन किया। भाकियू जिला अध्यक्ष प्रताप गुर्जर ने कहा कि इस देश का युवा सेना में रुपये कमाने के लिए नहीं जाता है बल्कि उसके माता-पिता सेना में देश की रक्षा करने के लिए भेजते हैं। युवाओं को अगर रुपये ही कमाने हो तो व्यापार भी कर सकता है, लेकिन हमारा युवा देश भक्ति कि भावना से मेहनत कर सेना में जाने के लिए तैयारी करता है ताकि वह अपने देश की रक्षा कर सके।

बागपत में अग्निपथ योजना के विरोध में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे।
बागपत में अग्निपथ योजना के विरोध में भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे।

किसानों और जवानों का अपमान
उन्होंने कहा कि सरकार ने इस देश के किसानों और जवानों का अपमान किया है। इसलिए प्रदर्शन किया जा रहा है। लाल बहादुर शास्त्री जी ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसान और जवान दोनों का अपमान कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...