बागपत में टाट बिछाकर पढ़ रही बच्चियां:67 छात्राओं को पढ़ाने के लिए है 5 शिक्षकें, पहले 500 की संख्या में आती थी पढ़ने

बागपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में टाट पर पढ़ती छात्राएं। - Dainik Bhaskar
बागपत में राजकीय कन्या इंटर कॉलेज में टाट पर पढ़ती छात्राएं।

बागपत के एक सरकारी इंटर कॉलेज व्यवस्थाओं की पोल खुल गई है। जहां पहले 500 छात्राएं पढ़ने आया करती थी। वहां अब विभागीय रिकार्ड के अनुसार केवल 67 छात्राएं ही आती है। जिन्हें पढ़ाने के लिए प्रिंसिपल ने पांच शिक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी है। यहां लड़किया जमीन पर टाट बिछाकर बैठी पढ़ाई करती नजर आई।

असुविधा व असुरक्षा के चलते घटी संख्या
मामला छपरौली क्षेत्र के तुगाना गांव स्थित राजकीय कन्या इंटर कॉलेज का है। यहां छह साल पहले कई गांवों से तकरीबन 500 से अधिक छात्राएं पढ़ने आती थी। असुविधा व असुरक्षा के चलते आज यहां महज 67 ही छात्राएं रह गई है।

टाट पट्टी पर बैठ करती है पढ़ाई
कॉलेज में न तो सही ढंग से शौच की व्यवस्था है और न ही पेयजल की। कॉलेज में लगा सरकारी हैण्डपम्प खराब पड़ा है। कॉलेज में लंबी-लंबी घास खड़ी है। जिस कारण आए दिन कॉलेज मेें सांप व अन्य जहरीली जीव-जन्तु घुस जाते है। कई बार तो जब बेटियां टाट-पटटी बिछाती है तो उसके नीचे ही से जहरीली जीव-जन्तु निकल आते है।

क्या बोली प्रिंसिपल
प्रिंसिपल गीता शर्मा ने बताया कि कॉलेज में न तो चारदीवारी है और न ही फर्नीचर की व्यवस्था। आए दिन शिक्षिकाओं व बेटियों के साथ छेडख़ानी की घटना आम बात हो गई है। शाम होते ही शराबी सक्रिय हो जाते है, जो कॉलेज परिसर में ही शराब पीते है। आवारा गौवंशों को भी कॉलेज में बंद कर दिया जाता है। इस संबंध में विभागीय अफसरों को अवगत कराया जा चुका है। अभी तक उनकी शिकायत पर कोई सुनवाई नही हो पाई है ।

खबरें और भी हैं...