बहराइच...बाढ़ में 30 गांव डूबे:नेपाल में हो रही बारिश से 2 तहसीलों में भरा पानी: जान जोखिम में डालकर जा रहे लोग, सरयू नदी का जलस्तर बढ़ा

बहराइच9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दोनों तहसीलों में लगभग 30 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। - Dainik Bhaskar
दोनों तहसीलों में लगभग 30 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं।

बहराइच जिले में बाढ़ ने एक बार फिर से हाहाकार मचा दिया है। नेपाल में हो रही बारिश से जिले की दो तहसीलें प्रभावित हो गई हैं। दोनों तहसीलों में लगभग 30 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। लोग चारपाई पर बैठे नजर आए। जिला प्रशासन ने बाढ़ में फंसे लोगों की सहायता करने का दावा किया है।

दुश्वारियों के बीच समय काट रहे ग्रामीण

सरयू नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ गया है। नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश का पानी सीधे जिले के नदियों में पहुंच रहा है। इससे विभिन्न तहसील में बहने वाली नदियां उफान पर आ गई हैं। महसी में सरयू नदी के उफान पर आने से गांवों में बाढ़ का पानी भर गया है। पानी भरने से लोगों की दिनचर्या प्रभावित है। ग्रामीण पानी से बचने के लिए चारपाई व तख्त का सहारा लिए हुए हैं। ऐसे में दुश्वारियों के बीच ग्रामीण समय काट रहे हैं।

सरयू नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ गया है। नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश का पानी सीधे जिले के नदियों में पहुंच रहा है।
सरयू नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ गया है। नेपाल के पहाड़ों पर हो रही बारिश का पानी सीधे जिले के नदियों में पहुंच रहा है।

सैकड़ों बीघा किसानों की फसल डूब गई है

महसी तहसील के ग्राम पंचायत गरेठी गुरुदत्तसिंह के मजरा ठकुरन गरेठी संपर्क मार्ग का पुल पानी में डूब गया है। पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। मैकूपुरवा संपर्क मार्ग पर पानी काफी भर गया है। लोग जान जोखिम में डालकर गंतव्य की ओर जा रहे हैं। संविलियन विद्यालय गरेठी गुरुदत्त सिंह में पानी भर गया है। उधर, मिहींपुरवा तहसील के पड़रिया, पुरैना, कंजीबाग, बढ़ैया, चंदनपुर समेत 10 गांव पानी से घिरे हुए हैं। सैकड़ों बीघा किसानों की फसल डूब गई है।

एडीएम जयचंद्र पांडेय ने बताया कि महसी में जलस्तर पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि मिहींपुरवा में लोगों के खेत और मकान से पानी निकलने लगा है।

एडीएम जयचंद्र पांडेय ने बताया कि महसी में जलस्तर पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि मिहींपुरवा में लोगों के खेत और मकान से पानी निकलने लगा है।
एडीएम जयचंद्र पांडेय ने बताया कि महसी में जलस्तर पर नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि मिहींपुरवा में लोगों के खेत और मकान से पानी निकलने लगा है।

इन गांवों में भरा पानी

महसी तहसील के बरुही टेपरी, नकहुवा, नयापुरवा, चीरपुर, ढकिया, खैरीघाट आंशिक, गंगासिंह बेली, महंतपुरवा, मुड़फोरन, अहिरनपुरवा, मुखियापुरवा, कोठारपुरवा, डाड़ेपुरवा, सुलंखिन, बेलामकन, घुमनी, बबुरी, चोरही, शंभू सिंह, केवलपुर, लोधपुरवा, लीलापुरवा, पिपरिया, गोलहनपुरवा, खालेपुरवा, टेपरा, अहिरन पिपरिया, बांसगढ़ी, पचदेवरी, रामसहायपुरवा, धनावा, बहदुरिया, गरेठी गुरुदत्तसिंह, मैकूपुरवा, अंगरौरा, दुबहा समेत ३० गांव शामिल हैं।

कर रहे हैं नाव की व्यवस्था

महसी तहसील के नायब तहसीलदार विपुल सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि क्षेत्र के कई गांव पानी से घिरे हैं। पानी में फंसे ग्रामीणों को बाहर निकालने के लिए नाव की व्यवस्था की जा रही है। राजस्वकर्मियों को निरंतर निगरानी के निर्देश दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...