• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bahraich
  • Bahraich... The Bullion Trader Had Created The Story Of His Own Loot. He Had Picked Up Money From Moneylenders, So He Did Not Have To Pay, So The Story Of Loot Was Created

बहराइच...सर्राफा व्यवसाई ने खुद के लूट की रची थी कहानी:साहूकारों से उठा रखा था रुपया, न देना पड़े इसलिए रची थी लूट की कहानी; जांच में फर्जी निकला मामला

बहराइचएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
लूट की झूठी सूचना देने पर आरोपी सराफा व्यवसाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। - Dainik Bhaskar
लूट की झूठी सूचना देने पर आरोपी सराफा व्यवसाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया।

बहराइच के पयागपुर थाना क्षेत्र में सर्राफा व्यवसाई से हुई लूट की घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस के खुलासे में लूट की घटना को फर्जी पाया गया है। सराफा व्यवसाई ने साहूकारों से उधार लिए पैसे को न देने की नियत बनाकर फर्जी लूट की कहानी रची और पुलिस को सूचना दी। सच कबूल करने के बाद पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया है।

एक दिन पहले दर्ज कराइ थी लूट की घटना

श्रावस्ती जिले में थाना इकौना निवासी अमन सोनी की ज्वैलरी की दुकान जिले के पयागपुर थाना क्षेत्र के बिलवा मोड़ पर स्थित है। गुरुवार को अमन ने पुलिस को सूचना दी कि देर शाम में अपनी दुकान बंद करके दुकान मे रखा सोना चांदी के जेवरात (कीमत करीब 160000/- रुपये) एक बैग मे रखकर अपाची मोटर साइकिल नं0 UP43AH4548 से अपने घर इकौना जा रहा था। परना चौराहा से 300 मीटर आगे इकौना की तरफ जाने पर उसकी मोटर साइकिल बंद हो गयी। इतने मे पीछे से तीन व्यक्ति एक सफेद अपाची मोटर साइकिल पर सवार होकर मुंह बांधे हुए आये। उसे मार-पीटकर धमकाकर ज्वैलरी रखा हुआ बैग छीन ले गये। लूट की सूचना पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

व्यापार में हो रहा था घाटा, साहूकारों से ले रखा था कर्ज

पयागपुर थानाध्यक्ष बृजनंद सिंह ने बताया कि गहराई से छानबीन की गई तो पता चला कि अमन सोनी ने काफी लोगो से कर्ज उधार ले रखा है। उसकी दुकान भी ठीक से नही चल रही है। जिस कारण से वह कुछ महीनों से परेशान था। हालांकि, इसके बावजूद वह अपने एशो आराम पर काफी रुपये खर्च करता है। आये दिन रुपये के तगादा मे लोग उसके पास आया जाया करते है। जिनसे कई तरह के बहाने बनाकर आज कल रुपये देने की बात कहकर टाल मटोल कर देता है। उसकी आम शोहरत सर्राफा व्यापारियो व आम जन मानस के बीच अच्छी नही है। वादी मुकदमा के क्रिया-कलाप के बारे मे पूरी जानकारी मिल जाने पर, और उसके द्वारा बतायी जा रही उक्त लूट की घटना प्रारम्भ से ही संदिग्ध प्रतीत होने पर वादी मुकदमा से थाना पयागपुर पुलिस टीम द्वारा लगातार मनोवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की गयी तो वह अपनी गलती की माफी मांगते हुए यह घटना फर्जी काल्पनिक एवं मनगढ़ंत होना बताया।

दो लाख रूपए देने थे

पूछताछ में अमन सोनी ने बताया कि दो साहूकारो को जिनकी बहराइच स्थित दुकान से ज्वैलरी उधार मे बिक्री के लिए लाया करता है, जिनके पैसे करीब दो लाख रुपये उन्हें देने थे, इसके अलावा भी कई लोगो से उधार के रुप मे पैसे ले लिए थे, जिसके लिए वे लोग लगातार तगादा कर रहे थे। उनको पैसे न देना पड़े और कुछ राहत मिल जाय यह सोचकर अमन सोनी ने एक फर्जी मनगढंत लूट की काल्पनिक कहानी बनाकर पुलिस को सूचना दे दिया ताकि पुलिस लुटेरो को खोजने मे लग जाएगी और साहूकारो की सहानुभूति उसे साथ जुड़ जाएगी। उसे उधारी के पैसे देने के लिए कुछ माह का समय मिल जाएगा। पूछताछ के दौरान शुक्रवार को थाना क्षेत्र पयागपुर बिलरवा मोड स्थित दूकान से वादी अमन सोनी द्वारा स्वयं जाकर आलमारी मे छिपाकर रख हुआ ज्वैलरी संबंधी एक काले रंग का बैग बरामद कराया गया। जिसमे उसके द्वारा बतायी जा रही समस्त ज्वैलरी मौजूद पायी गयी। थानाध्यक्ष ने बताया कि लूट की झूठी सूचना देने पर आरोपी सराफा व्यवसाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...