• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Bahraich
  • The Condition Of 5 People Of A Family Deteriorated Due To Drinking Poisonous Tea, 2 Year Old Innocent Died, 4 Were Admitted To The Hospital In Critical Condition

बहराइच में बहू ने परिवार को दी जहरीली चाय:प्रेमी से शादी करना चाहती थी, 7 महीने बाद जहर लेकर मायके से ससुराल आई; चाय पीने से 2 साल के बच्चे की मौत, 4 गंभीर

बहराइच5 महीने पहले

बहराइच में एक बहू ने पूरे परिवार को खत्म करने के लिए चाय में जहर मिलाकर पिला दिया। चाय पीते ही 5 लोगों की हालत बिगड़ गई। इलाज के दौरान 2 साल के मासूम की मौत हो गई। 4 की हालत अभी नाजुक है। इनका मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है। शुरुआत में डॉक्टरों ने फूड प्वाइजनिंग की आशंका जताई थी। लेकिन पुलिस जांच में पूरा मामला हत्या के प्रयास का निकला। पुलिस ने आरोपी बहू को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है।

प्रेमी के साथ रहना चाहती थी, इसलिए सबको मारने की रची साजिश
मामला कोतवाली देहात के मछियाही गांव में सोमवार सुबह आठ बजे का है। एसपी सुजाता सिंह ने बताया कि आरोपी महिला अंकिता पत्नी पूरन जायसवाल को पकड़ लिया गया है। पूछताछ में उसने बताया कि उसकी शादी दिसंबर 2020 में हुई थी। वह पति के साथ ससुराल में नहीं रहना चाहती थी। रक्षाबंधन के दिन मायके से ससुराल आई थी। साथ में, जहर भी लाई थी। उसी जहर को चाय में मिलाकर पूरे परिवार को पिला दिया।

वहीं, आरोपी महिला के देवर जितेंद्र जायसवाल ने आरोप लगाया है कि मायके में भाभी का किसी के साथ प्रेम-प्रसंग था। 7 महीने से वह उनके साथ नहीं रह रही थी। घटना के वक्त पति पूरन खेत पर काम करने के लिए गया था। आरोपी महिला का मायका पक्ष मजदूरी करता है।

चाय पीते ही होने लगीं उल्टियां
अंकिता ने घर के सभी सदस्यों को सुबह चाय दी। बच्चे पहले चाय पीने लगे इसलिए उनकी तबीयत भी पहले बिगड़ी। पंचराम, जितेंद्र, सृष्टि, शिवांशी व रुद्रांश को उल्टियां होनी शुरू हो गईं। जो बंद नहीं हो रहीं थीं। अस्पताल ले जाने पर रुद्रांश को नहीं बचाया जा सका।

वहीं, जितेंद्र ने यह भी बताया कि हम लोगों को जानकारी थी कि भाभी का मायके में किसी से प्रेम प्रसंग है। लेकिन वह जहर मिलाकर सबको मारने की कोशिश करेंगी। यहां तक नहीं सोचा था। बाकी लोग काम में लगे हुए थे। इसलिए बच गए। जितेंद्र ने बताया कि मेरे अलावा घर पर मां-पिताजी, बहन, बहन का बेटा और बेटी, भाई धर्मेंद्र, उनकी बेटी मौजूद थी। अच्छा हुआ जो सभी ने एक साथ चाय नहीं पी।

सबको क्यों मारना चाहती थी?
आरोपी अंकिता सभी को मार डालना चाहती थी। इसके लिए बकायदा उसने साजिश रची थी। रक्षाबंधन के दिन वह अपनी ससुराल पहुंची। मायके से ही जहर लेकर आई थी। पति पूरन को भी भनक नहीं लगने दी। पूरने के मंझले भाई धर्मेंद्र का कहना है कि यह नही पता कि वह सबको क्यो मारना चाहती थी, लेकिन एक बात समझ में आ रही है कि सबको मार कर वह अपने प्रेमी के साथ या तो सामान लेकर भाग जाती या यहीं रहती।

जितेंद्र बोला- घर आई थी बहन, उसका बेटा मर गया
जितेंद्र ने बताया कि रक्षाबंधन पर राखी बांधने के लिए बहन भी घर आई थी। जहरीली चाय पीने से उसके दो साल के बेटे रुद्रांश की मौत हो गई। इसके अलावा, पंचराम जायसवाल (55 ) पुत्र रामपाल,
जितेंद्र जायसवाल (28) पुत्र पंचराम, सृष्टि (4) पुत्री धर्मेंद्र और शिवांशी (15) पुत्री राजेश जायसवाल की हालत गंभीर है।

खबरें और भी हैं...